रेहला | विश्रामपुर | पलामू | गढ़वा हॉट स्पॉट से पूरे परिवार को निकाल कर ले आया अपने घर

गृह रक्षक के परिवार को लेने पहुंची पुलिस

> गढ़वा पुलिस के गृह रक्षक ने ही किया यह कारनामा,ग्रामीणों में रोष
> स्थानीय पुलिस-प्रसाशन ने पूरे परिवार को जांच हेतु भेजा अस्पताल
विश्रामपुर | पलामू | कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण को रोकने हेतु सरकार हर कदम उठा रही है.लगभग सभी पुलिस अधिकारी व जवान जान जोखिम में डाल कर अपनी डियूटी निभा रहे है.वही एक-दो पुलिस कर्मी खुद ही नियमो की धज्जियां उड़ाते हुये कई लोगो की जान जोखिम में डाल रहे है.ताजा मामला उंटारी रोड प्रखंड के भदुमा गांव का है.मिली जानकारी के अनुसार एक व्यति के कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने के बाद गढ़वा के साईं मुहल्ला व पठान मुहल्ला को हॉट स्पॉट के रूप में चिन्हित करते हुये सील कर दिया गया है.इसी मुहल्ले में झारखंड पुलिस ने आरक्षी के पद पर कार्यरत चंद्रदेव राम का पूरा परिवार एक किराये के मकान में रहता था.कुछ दिनों पहले चंद्रदेव राम का तबादला हजारीबाग हो गया.वह खुद तो हजारीबाग चला गया.लेकिन उसका पूरा परिवार गढ़वा साईं मुहल्ले में ही रुका रहा.इसी बीच देश मे लॉकडाउन लागू हो गया.श्री राम का परिवार वही फंसा रह गया.कोरोना मरीज मिलने के बाद साई मुहल्ले को सील कर दिया गया.चंद्रदेव राम का एक भाई लक्ष्मण राम गढ़वा पुलिस में गृह रक्षक वाहिनी में कार्यरत है.उसने अपने भाई के पूरे परिवार को बारी-बारी से साईं मुहल्ले से निकाल कर अपने पैतृक गांव भदुमा पहुंचा दिया.यक्ष प्रशन यह है कि जब पूरा मुहल्ला सील है.पूरे मोहल्ले पर पुलिस की कड़ी निगरानी है.इसके बावजूद भी गृह रक्षक लक्ष्मण राम अपने पूरे परिवार को उस मुहल्ले से कैसे निकाल पाया.इधर जब गांव के लोगो को जैसे ही इसकी खबर मिली,उन्होंने उसकी सूचना स्थानीय पुलिस-प्रसाशन को दी.उंटारी रोड थाना प्रभारी ऋषिकेश कुमार राय पुलिस बल के साथ लक्ष्मण राम के घर पहुंच कर परिवार के सभी छः सदस्यों को जांच हेतु एम्बुलेंस के माध्यम से नजदीकी अस्पताल भेज दिया है.उंटारी जिला पार्षद मनोज सिंह ने गृह रक्षक लक्ष्मण राम पर कार्रवाई की मांग की है.

109 total views, 1 views today