मझिआंव । गढ़वा । सैकड़ों मुर्गियों सहित कई पक्षी प्रजातियों की हुई मौत, किसी भयावह बीमारी की आशंका

मझिआंव से सूरज प्रकाश की रिपोर्ट

मझिआंव । गढ़वा । थाना क्षेत्र के अंतर्गत सोनपुरवा पंचायत के ग्राम सोनपुरवा के पखल डीहा टोला निवासी लगभग एक दर्जन लोगों का कहना है कि हमारे क्षेत्र में बीते दस से पंद्रह दिनों अंदर सैकड़ों मुर्गियों सहित पक्षियों की मौत हो गई और लगातार पक्षियों के मरने की सिलसिला जारी है। वहीं प्रत्यक्षदर्शी ग्रामीणों और मुर्गी पलको में राजू चौधरी के 5 मुर्गी, संजीव चौधरी के 9 मुर्गी एवं दो तोता, उदय चौधरी के 10 मुर्गी, बिरजू चौधरी के 30 मुर्गी, लालमोहन चौधरी के 12 मुर्गी, राजेश्वर चौधरी के 30 मुर्गी, इंद्रदेव चौधरी के 8 मुर्गी, मनदीप चौधरी के 12 मुर्गी सहित दो कौवे की भी मौत हुई है।

और साथ ही जानकारी स्वरूप यह भी बताते चले कि 6 से 7 राज्यों में बर्ड फ्लू का भी प्रकोप चल रहा है। जिससे राज्य सरकार हाई अलर्ट पर है। “बर्ड फ्लू” बीमारी के बारे में यह भी बताते चले बर्ड फ्लू या चिड़ियों का इन्प्लुएन्जा, एक विषाणुजनित रोग है। यह विषाणु मुर्गी एवं अन्य चिड़ियों में होता है। फ्लू का कारण एवियन इन्फ्लूएंजा( H5N1) वायरस होता है। और इससे बचाव-पक्षियों के संपर्क में आने से बचें- H5N1 वायरस के खतरे से बचने के लिए हमें पक्षियों के साथ सीधे संपर्क में नहीं आना चाहिए. डोमेस्टिक पोल्ट्री फार्म के पक्षियों के संक्रमित होने के बाद इंसान के बीच इसके फैलने की संभावना काफी बढ़ जाती है. पक्षियों के मल, लार, नाक-मुंह या आंख से स्राव के माध्यम से भी ये बीमारी इंसानों में फैल सकती है.

और वहीं हमारे प्रखंड मझिआंव क्षेत्र में लगभग 15 दिनों से निरंतर मुर्गियों का मरना जारी है। वहीं गांव के लोगों का कहना है कि हम नही जानते कि कैसे सारे पक्षी मर रहे है पर वृद्ध ग्रामीणों का कहना टुनकी नामक बीमारी से मर रहे हैं। लेकिन इतनी तादात में अचानक पक्षियों का मरना यह तो जांच का विषय बनता है।अचानक इस घटना के कारण ग्रामीणों में खौफ़ का माहौल छाया हुआ है।वही ग्रामीण मुर्गियों को मरने के बाद खुले क्षेत्र में फेंक रहे है जिससे बीमारी का खतरा और बढ़ने की आशंका है। और स्थानीय निवासी जिनका बड़ी संख्या में मुर्गिया मरी है का कहना है कि हम लोग मुर्गियों को पालकर किसी तरह अपना गुजर बसर करते है हमारा घर परिवार इसी से चलता है इसलिए सरकार से आग्रह है कि मुआवजा मिल जाता तो हम गरीबों को बड़ी सहायता मिलता।

91 total views, 2 views today