चिनिया । गढ़वा । ग्रामीणों ने सुपरवाइजर के खिलाफ जमकर रोष को प्रकट किया

चिनिया से हेमंत कुमार की रिपोर्ट

चिनिया । गढ़वा । चिनिया प्रखंड अंतर्गत बेता पंचायत के बेता पंचायत भवन में आज सैकड़ों महिला-पुरुष एकत्रित हुए थे। कारण था कि आज बाल विकास परियोजना के तहत डायन बिसाही को लेकर बाल विकास परियोजना सुपरवाइजर सरस्वती देवी को बेता के पंचायत भवन में आना 11:00 बजे का टाइम सुनिश्चित किया गया था। परंतु सरस्वती देवी 3:00 बजे तक नहीं पहुंची जिससे ग्रामीण महिला पुरुष काफी आग बबूला हो गए।

प्राप्त जानकारी के अनुसार चिनिया प्रखंड के बेता पंचायत भवन में आयोजित बाल विकास परियोजना द्वारा तथा उपायुक्त राजेश कुमार पाठक के निर्देशानुसार डायन प्रथा उन्मूलन संबंधी जागरूकता कार्यक्रम गढ़वा जिले के हर प्रखंड में किया जाना है। जिसमें सभी प्रखंड के पंचायतों का दिन एवं समय सुनिश्चित किया गया है। आज 27/ 10/ 2020 को पर्यवेक्षक के रुप में सुपरवाइजर सरस्वती देवी को 11:00 बजे बेता पहुंचना था परंतु पर्यवेक्षक नहीं पहुंची जिससे आम ग्रामीणों ने रोष जताया तथा कार्रवाई की मांग की। बताते चलें कि बाल विकास परियोजना के तहत 16 अक्टूबर से 3 नवंबर तक डायन प्रथा उन्मूलन संबंधी जगह-जगह पर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। उसी के तहत 27 अक्टूबर को बेता पंचायत भवन में डायन प्रथा उन्मूलन संबंधी जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। आम ग्रामीण और गांव की महिलाएं वहां उपस्थित रहे। इंतजार करते रहे लेकिन पर्यवेक्षक नहीं आई और सभी ग्रामीण जानकारी से वंचित रहे इस मामले पर बाल विकास परियोजना पदाधिकारी बिंदु कुमारी से पूछे जाने पर बताया कि अगर इस तरह के सुपरवाइजर द्वारा किया गया है तो जांच कर कार्रवाई की जाएगी। ग्रामीणों का कहना है कि उक्त पर्यवेक्षक पर जांच कर कार्रवाई की जाए। मौके पर ग्रामीण चेतू सिंह, उषा देवी, सरिता देवी, अनीता देवी, कमला देवी, मीना कुमारी, शंभू परहिया, रामदेव सिंह, जागो देवी, अंजली देवी सहित कई महिला पुरुष उपस्थित थे।

46 total views, 2 views today