रंंका । गढ़वा । रंका राज रियासत की ओर से जात्रा निकाली गई

रंका । गढ़वा । रंका राज रियासत की ओर से दशहरा पर्व को सोमवार 26 अक्टूबर को राज परंपरा एवं कोविड नाईटीन के सभी नियमों को पालन करते हुए राजा कुमार गोवर्धन प्रसाद सिंह अपने जनताओं के साथ जात्रा निकाले यह जात्रा में रंका ठाकुरबाड़ी से भगवान ठाकुर जी के साथ लेकर यह परंपरा के साथ जात्रा निकाला जाता रहा है । इसी के उपलक्ष में यह यात्रा हर वर्ष निकाला जाता रहा है । जात्रा में रंंका ठाकुर बाड़ी मंदिर से भगवान ठाकुर जी को साथ लेकर शम्मी पेड़ का पूजा अर्चना के साथ रंका से तीन किलोमीटर दूर खरडिया तक जात्रा किया जाता है । जो जात्रा राज पूर्वजों के द्वारा बनाया गया है । जिसका उत्तराधिकारी रंका के राजा हर वर्ष दशहरा के पर्व के शाम 8:00 बजे अपने रियासत के जनताओं के साथ जात्रा करते हैं । उसके बाद रियासतों के साथ बैठकर दरबार लगाते हैं । परंतु इस वर्ष राज्य एवं केंद्र सरकार के निर्देशों का एवं कोविड नाईटीन के सभी नियमों को पालन करते हुए रंका राजा की ओर से राज्य रियासत का दरबार नहीं लगाने का निर्णय लिया, सिर्फ परंपरा के अनुसार जात्रा निकाली गई । जिसमें वाहनों के द्वारा यात्रा निकाली गई जिसमें अपने वाहन मे भगवान ठाकुर जी एवं अपने राजकुमार गुलाब प्रताप सिहं के साथ आगे आगे वाहनो में चलते हैं और पिछे से वाहनो में रंंका रियासत के लोग वाहनों में उपस्थित रहते हैं । दशहरा पर्व का जात्रा बहुत ही शुभ मानी जाती है । जिसके लेकर राज परंपरा के अनुसार मंदिरों में पूजा अर्चना के साथ जात्रा निकाली जाती है । जिसमें रंका राज्य के रियासत के लोग भी उपस्थित रहते हैं, जो इस वर्ष भी जात्रा में उपस्थित थे।

29 total views, 1 views today