नावा बाजार। पलामू । पोती के जन्मदिन पर आकाश बाग में चंदन के पौधा लगाये

अपने मां .पिता, दादा- दादी, चाचा -चाची एवं बहन के साथ आशिका

> परिवार के हर सदस्यों के जन्मदिन पर पर्यावरण धर्म के अनुकूल  आकाश बाग और डाली के कौशल नगर पार्क में लगाते हैं, पौधा

नावा बाजार। पलामू। शहर के बाईपास रोड स्थित पर्यावरण भवन के ऊपरी तल पर पर्यावरणविद कौशल किशोर जायसवाल ने अपनी पोती आशिका के छठवीं  जन्मदिन पर आकाश बाग में चंदन के पौधा लगाकर परिवार के सभी सदस्यों के साथ जन्म दिन मनाया। पर्यावरणविद ने वर्ष 2005 में अपने घर के उपरी तल पर आकाश बाग की शुरुआत किया था। आशिका पर्यावरणविद कौशल किशोर  की पोती और छतरपुर प्रखंड के डाली पंचायत के लगातार दो बार से मुखिया रहे  अमित जायसवाल की बड़ी पुत्री है।

विश्वव्यापी पर्यावरण संरक्षण अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह पर्यावरण धर्म व वनराखी मूवमेंट के प्रणेता पर्यावरणविद कौशल किशोर जायसवाल ने पर्यावरण धर्म के प्रार्थना के साथ पौधरोपण करवाने के बाद सभी सदस्यों को पर्यावरण धर्म के आठ मूल मंत्रों की शपथ दिलाई। उन्होंने कहा कि पर्यावरण धर्म का अर्थ ही है कि सभी लोग अपने जन्मदिन या  फिर जीवन के किसी भी कोई शुभ अवसर या पूर्वजों के श्राद्ध के दिन पौधा लगाकर उसे अपने बच्चों की तरह बचाएं ।

पर्यावरण धर्म के इसी मंत्र से 1977 से अब तक नेपाल भूटान समेत देश के 22 राज्यों के 78 जिलों में जाकर अब तक 40 लाख निशुल्क पौधे लगाकर लोगो को पर्यावरण धर्म का पाठ पढ़ाया है। आशिका के दादी और संस्था के प्रधान सचिव पूनम जायसवाल ने कहा कि प्रत्येक माता-पिता अपने बच्चों को बचपन से ही उनके जन्मदिन पर पौधा लगाने और बचाने का शिक्षा और संस्कार देना चाहिए। आशिका के पिता ग्राम पंचायत डाली बाजार के मुखिया अमित कुमार जायसवाल ने कहा कि मेरे पिता पर्यावरणविद को पर्यावरण की सेवा करते आज अर्द्धशतक पार कर गए। उन्होंने पर्यावरण के प्रति लोगों को जागरूक किया है। आशिका के बड़े पापा और यूनिक प्लाई के प्रोपराइटर अरुण कुमार जायसवाल ने कहा कि बचपन से ही बच्चों को घर से लेकर स्कूल तक पौधा लगाने की शिक्षा देना चाहिए। जिससे आने वाले पीढ़ी को लाभ मिलेगा। आशिका के मां शिल्पा जायसवाल ने कहा कि मेरे घर के बच्चे के जन्मदिन आने से एक सप्ताह पहले से पौधा लगाने की तैयारी होने लगता है।

इसी तरह के चर्चा सभी घरों के बच्चों में होना चाहिए। आशिका के बड़ी मम्मी कोमल जायसवाल ने कहा कि हमारे घर में डाली बाजार से डालटेनगंज तक  30 सदस्य हैं ।परिवार के सभी  सदस्य  पौधा लगाने से बचाने तक निष्ठा के साथ कार्य करते हैं।  चाचा रामू भैया संतोष   दीदी आराध्या समेत घर के सभी सदस्य और नाना नानी ने जन्मदिन पर बधाई दिया है।

19 total views, 1 views today