खरौंधी । गढ़वा । नेटवर्क व सर्वर की समस्या से ग्रामीणों को राशन लेने में हो रही परेशानी

खरौंधी से योगेंद्र प्रजापति की रिपोर्ट

खरौंधी । गढ़वा । नेटवर्क व सर्वर की समस्या खरौंधी प्रखंड के मझिगावां गांव में राशन कार्डधारियों के लिए बड़ी समस्या बन रही है। कोरोना संक्रमण के बाद भी पॉश मशीन में अंगूठे का लगाने का सरकारी फरमान सितंबर माह में लोगों को हैरत में डाल दिया है। कार्डधारी असमंजस की स्थिति में हैं। यदि पॉस मशीन में अंगूठे नहीं लगाते हैं।डीलर लाभुकों को गांव से 2 किलोमीटर दूर फ़सलगवा पहाड़ के ऊँची चोटी पर ले जाकर पोस मशीन में अंगूठा लगाने के लिए ले जाते हैं पर कई वृद्ध ऊँची पहाड़ की चोटी पर चढ़ने से हाँफने लगते हैं और बिना अंगूठा लगाए ही आधे रास्ते से वापस आ जाते हैं।यह खेल विगत चार दिनों से जारी है। पॉस मशीन की ऑनलाइन व्यवस्था ने एक बार पुन: चार महीने बाद कार्ड धारी से लेकर जन वितरण दुकानदार को परेशान कर रखा है। लोगों को पांच -दस केजी अनाज लेने के लिए नेटवर्क का इंतजार घंटों करना पड़ रहा है । कभी कभी तो पूरा दिन का समय राशन लेने में ही बीत जाता है।

बताया जाता है कि वितरण के लिए जब पॉश मशीन खोला जाता है तो किसी दिन लॉगिन नहीं होता है तो कभी लॉगिन के पश्चात की कार्रवाई नहीं हो पाती है। वहीं कभी काल दो-तीन मिनट के लिए सर्वर का सपोर्ट मिल पाता है। जब सर्वर काम करता है तो कुछेक कार्डधारी को राशन मिलता है जब सर्वर काम नहीं करता है तो उन्हें खाली हाथ दुकान से घूमना पड़ता है।गांव में एक भी मोबाइल टावर नही है।किसी तरह दूर के गांव का नेटवर्क कही कहीं पकडता भी है तो अक्सर रहती नेटवर्क की समस्या राज्य सरकार ने जब से जन वितरण प्रणाली व्यवस्था को ऑनलाइन कर दुकान को पॉस मशीन उपलब्ध कराई है तब से नेटवर्क बड़ी समस्या बनी हुई है। मशीन में नेटवर्क लाने के लिए दुकानदारों को कभी छत पर चढ़ना पड़ता है तो कभी गांव के पहाड़ीनुमा स्थल पर जाकर कार्डधारियों का फिंगर लेना पड़ता है। ऐसे में लाभुकों से उनका बकझक भी होता है।पीडीएस डीलर कुलदीप सिंह ने बताया की कई बार विभागीय अधिकारी को मशीन में नेटवर्क नियमित नहीं रहने की लिखित जानकारी दी। नेटवर्क दुरुस्त करने की मांग भी की पर विभाग इस पर कोई पहल नहीं कर सका। फोर जी के दौर में सरकार अब भी टू जी नेटवर्क से काम ले रही है। क्या कहते हैं कार्डधारी सरकार ने ऑनलाइन की व्यवस्था जन वितरण प्रणाली में तो कर दी है, लेकिन दुरुस्त नेटवर्क की व्यवस्था नहीं है। हम कार्ड धारी अनाज लेने के दौरान परेशान रह

> सुकूल राम कार्ड धारी.. मझिगावां राज्य सरकार सबसे पहले नेटवर्क टावर लगाएं तब दुकानदारों की मशीन में फोर जी नेटवर्क उपलब्ध कराए। उसके बाद हम कार्ड धारियों को राशन ऑनलाइन देने पर विचार करें। कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए ऑनलाइन व्यवस्था पर सरकार को अभी तत्काल विराम लगाना चाहिए।

> चिन्ता देवी कार्डधारी, मझिगावां..कमजोर नेटवर्क रहने के कारण राशन लेने में बहुत ही वक्त का जाया होता है। हम गरीब जितने का राशन नहीं लेते उतना का समय बर्बाद करते हैं। सरकार की यह व्यवस्था मुसीबत बन गई है।

> कलावती देवी कार्ड धारी मझिगावां... मशीन की ऑनलाइन व्यवस्था में राशन लेना पीड़ादायक है। यह किसी फजीहत से कम नहीं। राज्य सरकार दुकानों में नेटवर्क व्यवस्था को दुरुस्त करें तब राशन वितरण की ऑनलाइन व्यवस्था पर जोर दे।

> फुलमतिया देवी कार्डधारी, मझिगावां..क्या कहते हैं भाजपा नेता जितेंद्र प्रसाद यादव ने बताया इस कोरोना संक्रमण काल में ऑफलाइन व्यवस्था को हटाकर ऑनलाइन व्यवस्था से राशन वितरण करवाना सरकार की बड़ी भूल है। मझिगावां पंचायत में एक भी नेटवर्क टावर नही है, पहले सरकार को मझिगावां पंचायत में नेटवर्क टावर लगाना चाहिए फिर ऑनलाइन राशन वितरण होना चाहिए।आदम जमाने के टू जी नेटवर्क की व्यवस्था को हटाकर फोर जी नेटवर्क कि जब तक व्यवस्था दुरुस्त नहीं की जाती है, तब तक जन वितरण प्रणाली दुकानदार को राशन वितरण करने में काफी फजीहत होगी। राज्य सरकार शीघ्र फोर जी नेटवर्क की व्यवस्था करें। तब ऑनलाइन व्यवस्था से राशन वितरण सुनिश्चित कराने पर विचार करें।

92 total views, 1 views today