नावा बाजार। पलामू।एहतियात के साथ बकरीद पर्व बनाया गया, कोरोना की मुक्ति की दुआ मांगे गये

नावा बाजार। पलामू। पूरे प्रखंड में बकरीद यानी ईद उल अजहा शांति पूर्ण माहौल में मनाया गया। इस बार कोरोना वायरस के वजह पूरे देश मे लॉक डाउन लगा दिया। जिसके वजह से मज्जिद में नवाज़ पढ़ने की पाबंदी है। इसलिये बकरीद की नवाज़ घर पर ही पढा गया। कण्डा में कलीम खलीफा ने नवाज़ पढ़ाया। उन्होंने बताया कि ईद-उल फितर के बाद ईद-उल-अजहा यानी बकरीद मुसलमानों का दूसरा सबसे बड़ा पर्व है. दोनों ही मौके पर ईदगाह जाकर या मस्जिदों में विशेष नमाज अदा की जाती है. ईद-उल फितर पर शीर खुरमा बनाने का रिवाज है, जबकि ईद-उल जुहा पर बकरे या दूसरे जानवरों की कुर्बानी दी जाती है। हालांकि इस साल कोरोना वायरस के संकट की वजह से स्थिति अलग है. इसलिए त्योहारों पर जमा होने वाली भीड़ पर भी सरकार पाबंदियां लगा रही है. लिहाजा ऐहतियात के साथ बकरीद मनाई जा मनाया गया। मौके पर सलीम खलीफा, मुमताज खलीफा, अलीम खलीफा, इम्तियाज़ खलीफा,ताज खलीफा,गदर, मौजूद थे।

9 total views, 1 views today