डंडई(गढ़वा): डंडई में भारत रत्न बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर के 128वीं जयंती के शुभ अवसर पर निकाली गई भव्य जुलुश

बाबा साहब के प्रतिमा पर माल्यार्पण करते लोग
बाबा साहब के प्रतिमा पर माल्यार्पण करते उपप्रमुख आनन्द प्रकाश
जुलुश में जय भीम के नारे लगाते लोग

जुलुश में शामिल लोग

डंडई(गढ़वा): डंडई प्रखंड मुख्यालय में संविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर के 128 वी जयंती समारोह का आयोजन किया गया। जयंती समारोह को लेकर अहले सुबह लगभग 8:00 बजे शोभा यात्रा निकाली गई। शोभायात्रा मुख्य बाजार से पुरानी बाजार होते हुए देवी धाम सहित विभिन्न मार्गों से भ्रमण कराया गया। इस दौरान लोगों ने संविधान निर्माता अमर रहे, जब तक सूरज चांद रहेगा, बाबा तेरा नाम रहेगा, बोधिसत्व बाबा साहब अमर रहे सहित अन्य नारे लगा रहे थे। तत्पश्चात शोभायात्रा सिंचाई भवन परिसर पहुंचे सभा में तब्दील हो गई। वहीं अंबेडकर चौक पर स्थापित संविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर के प्रतिमा पर शोभायात्रा में शामिल सभी लोगों ने बारी-बारी से माल्यार्पण कर नमन किया। सभा को संबोधित करते हुए विधायक प्रतिनिधि दिनेश राम ने कहा कि संविधान निर्माता डॉ भीमराव अंबेडकर का जन्म वैसे समय में हुआ था। जिस समय समाज में काफी विषमता थी वैसे समय में उन्होंने अपनी पढ़ाई पूरी कर देश को विश्व का सर्वश्रेष्ठ संविधान दिया था। वहीं उन्होंने समतामूलक समाज बनाने अहम भूमिका निभाई थी। साथ ही उन्होंने कहा कि आजादी के आज तक बाबा साहब के सपनों का भारत नहीं बन सका है। बाबा साहेब के सपनों का भारत बनाने के लिए सभी लोगों को कृत संकल्पित होना होगा। बाबासाहेब को जयंती को मना देने से समाज व देश का विकास संभव नहीं है। उनके बताए हुए मार्ग पर चल कर ही समाज का विकास संभव हो सकेगा। प्रतिनिधि अक्षय कुमार ने कहा कि बाबा साहेब ने अपना सारा जीवन देश में व्याप्त असमानता को दूर करने में लगाई। समाज में आज भी अशिक्षा व्याप्त है इसे हर हाल में दूर करना होगा तभी बाबा साहब का सपना का भारत बन सकता है। वहीं अलख निरंजन प्रसाद ने कहा कि बाबा साहब का जन्म वैसे समय में हुआ था जिस समय देश में छुआछूत का प्रचलन चरम सीमा पर था। उस समय उन्होंने बेसुमार कठिनाई का सामना कर देश को समानता पर आधारित विश्व का सर्वश्रेष्ठ संविधान दिया। साथ ही बाबा साहब ने देश के लोगों को संदेश दिया कि शिक्षित बनो, संगठित हो, संघर्ष करो, लेकिन आज भी समाज में शिक्षा का घोर अभाव है आज शिक्षा के प्रति लोगों जागरूक करना होगा। साथ ही उन्होंने कहा कि बाबासाहेब के बताएं पद चिन्ह पर चल कर देश व समाज के विकास हो सकेगा। सभा का संबोधन उपप्रमुख आनंद प्रकाश मिथिलेश प्रसाद मूंगा लाल भारती सुरेंद्र कुमार ने भी किया। सभा की अध्यक्षता महावीर राम व संचालन रामदेव राम ने किया। मौके पर राम किशन ठाकुर, जगदीश पासवान, दिलबर कुमार, संजय कुमार, शशि भूषण मेहता ,दीनानाथ पांडेय, सुभाष चंद्र मेहता, सकलदीप राम, गुप्तेश्वर राम, श्रवन राम, मनोज कुमार, दीनानाथ प्रसाद, बंगाली राम, राजेश गुप्ता, सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित थे।

44 total views, 1 views today