हुसैनाबाद(पलामू)शिवपूजन मेहता अब तक के सबसे भ्रष्ट विधायक-लव मेहता

          हुसैनाबाद(पलामू):- हुसैनाबाद,हरिहरगंज विधायक कुश्वाहा शिवपुजन मेहता अबतक का सबसे भ्रष्ट व लुटेरा विधायक साबित हुआ है.उक्त बातें समाज सेवी लव मेहता बुधवार को स्थानीय रूद्रा होटल परिसर में पत्रकारों से बातचीत में कही.उन्होंने कहा की पिछले चार माह से हुसैनाबाद ,हरिहरगंज विधान सभा क्षेत्र के कई गांवों का दौरा करने पर ग्रामीणों ने बताया की विधायक द्वारा गांव में विधायक कोटे की राशि से कोई काम नही हुआ है. ग्रामीणों के मांग पर स्थानीय विधायक द्वारा कराये गये विधायक कोटे की राशि से कराये गये कार्यों का सूचनाधिकार के तहत मांग करने पर जो जानकारी मिली है वह इस क्षेत्र के लिए दुर्भाग्यपुर्ण है. करोड़ों रूपये की निकाशी विकास के नाम पर की गयी है. लेकिन वास्तविकता में धरातल में कोई कार्य नही हो पाया है. बल्कि एकही कार्य को दो अलग-अलग वितिय वर्षों में बिना कार्य किये राशि निकाल ली गयी है.उन्होंने कहा की विधायक द्वारा वितीय वर्ष 2015-16 में हुसैनाबाद अनुमंडल के हैदरनगर प्रखंड के कुकही में रामेश्वर बांध से बडका आहर तक सिचांई पईन की जीर्णोंद्धार के नाम पर 16 लाख की निकासी की गयी.जो पाट वन व पाठ टू के तहत कार्य दिखाया गया है. जबकि इसी कार्य को वर्ष 2017-18 में इसी कार्य के नाम पर 30 लाख की निकासी की गयी है.ग्रामीणों की मांग व शिकायत पर उपायुक्त पलामू द्वारा स्थानीय विधायक कुश्वाहा शिवपूजन मेहता को पत्रांक 10/2019 से प्राप्त अनुशंसा एवं जिला अभियंता ,जिला परिषद पलामू का पत्रांक 46 दिनांक 30-01-2019 से प्राप्त प्रतिवेदन के आलोक में इस कार्यालय के आदेश ज्ञापांक 1681 दिनांक 08-11-2018 द्वारा इन दो योजनाओं के प्रदत्त प्रशासनिक स्वीकृति को रद्द किया जाता है. साथ ही जिला अभियंता जिला परिषद पलामू को ज्ञापांक 148 दिनांक 4-2-2019 को पलामू उपायुक्त ने आदेश दिया की विमुक्त राशि 24 लाख रूपये जिला ग्रामीण विकास अभिकरण ,पलामू लोखा शाखा में चेक के माध्यम से वापस करे.वहीं हरिहरगंज प्रखंड के डेमा के पूर्णाडीह गांव में विवाह मंडप के नाम पर 9 लाख 2 हजार की निकाशी की गयी.लेकिन उक्त स्थल पर कोई भी कार्य नही हो पाया.वहीं हुसैनाबाद प्रखंड के देवरी खुर्द में वितीय वर्ष 15-16 में रामदेव राम के घर से शंकर के घर होते हुये कैलाश राम के घर तक पीसीसी पथ निर्माण के नाम पर 08 लाख की निकासी हो गयी.लेकिन उक्त गांव में ग्रामीणों ने बताया की यहां पर पिछले दस साल पूर्व विधायक संजय कुमार सिंह यादव द्वारा ईंट सोलिंग की गयी थी.जो आज तक मौजूद है. वहीं इस पंचायत को ओडीएफ के नाम पर 538 शौचालय के नाम पर 64 लाख 56 हजार की निकासी की गयी है.लेकिन उक्त पंचायत ओडीएफ नही हो सका. क्योंकि इस पंचायत में मुखिया द्वारा कुछ शौचालय बनाने की बात ग्रामीणों ने की है.जो जांच का विषय है. इस तरह की हुसैनाबाद ,हरिहरगंज में कई योजनाओं के नाम पर राशि की निकासी की गयी है.जो जांच का विषय है. उन्होंने कहा की अगर 15 दिनों के अंदर विधायक कोटा से बनी विकास कार्यों की जांच नही की गयी तो रांची लोकायुक्त में विधायक व एजेंसी के खिलाफ एफआईआर की जायेगी.मौके पर बलराम मेहता,रंजित वर्मा , शशिकांत वर्मा ,कुमार अजय,विरेंद्र कुमार , मजहर खान समेत कई लोग मौजूद थे.

698 total views, 5 views today