कांडी(गढ़वा): शो में खड़े हैं करोड़ों रुपए से बने हॉस्पिटल इलाज के लिए दर-दर भटक रहे हैं मरीज


हरिहरपुर/कांडी(गढ़वा): हरिहरपुर ओपी क्षेत्र के मरीज दवा के लिए और इलाज के लिए दर-दर भटक रहे हैं यदि किसी व्यक्ति को हल्की बुखार भी आ जाए तो लोग या तो गढ़वा दवा कराने जाएं या तो झोलाछाप डॉक्टरों के भरोसे रहे क्योंकि क्षेत्र की हालत तो यह है कि अस्पताल में ना तो नर्स हैं और नाहीं डॉक्टर मझिगावां पंचायत व हरिहरपुर पंचायत में लाखों करोड़ों रुपए खर्च कर के अस्पताल के भवन तो बन गए, हैं पर वह भवन अब किसी भी काम के नहीं है क्योंकि अस्पताल आज भी डॉक्टरों के लिए तरस रहे हैं, और डॉक्टरों के अभाव के कारण यह अस्पताल भवन एक दर्शन का केंद्र बन चुका है क्षेत्र के व्यक्ति यदि बीमार होते हैं तो उन्हें दिखाने के लिए 20 किलोमीटर दूर भवनाथपुर जाएं या तो दूसरी ओर 45 किलोमीटर दूर गढ़वा जाएं और इस दौरान विलंब हो जाए तो मरीज अपने प्राणों से भी हाथ धो बैठते हैं ताज्जुब की बात तो तब होती है कि डॉक्टर तो दूर की बात है और समय पर हॉस्पिटल में एक प्रशिक्षित नर्स भी नहीं मिलते हैं
क्या कहते हैं ग्रामीण
मझिगावां पंचायत निवासी बन्हू पासवान अपने लगातार दो पुत्रों को खोने के बाद कहते हैं कि यदि हमारे क्षेत्र में भी अस्पताल में डॉक्टर होते तो आज मैं अपने दो बेटों को नहीं खोता क्योंकि मैं डॉक्टर के अभाव में इधर-उधर भटकता रहा पर मुझे उचित डॉक्टर से मुलाकात हुआ ही नहीं और जब बाहर (उत्तर प्रदेश के वाराणसी) लेकर गया उस समय तक बहुत लेट हो चुकी थी परिणाम स्वरूप मैं अपने दोनों पुत्र के जीवन से हाथ धो बैठा।अब अब देखना यह है कि शो मे बने इस हॉस्पिटल में डॉक्टर कब आते है की मरीजो की समस्या दूर हो।

35 total views, 1 views today