विश्रामपुर (पलामू) :- जांचोपरांत दोषी पाये जाने पर तीन डीलरों का अनुज्ञप्ति हुआ निलंबित

> 15 दिनों के अंदर स्पष्टीकरण नही देने पर अनुज्ञप्ति रद्द करने की चेतावनी
विश्रामपुर (पलामू) :- विश्रामपुर नगर परिषद के तीन डीलरों का अनुज्ञप्ति तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है.यह कार्रवाई अनियमितता के आरोप पर हुयी जांच के बाद दोषी पाये जाने पर की गयी है.तीनो डीलरों के निलंबन का आदेश जिला आपूर्ति पदाधिकारी सह अनुज्ञापन पदाधिकारी ने जारी की है.जिन डीलरों की अनुज्ञप्ति निलंबित की गयी है,उनमें उरसुला के डीलर सुरेश यादव,झगरूआ के इदरीश अंसारी व भलुही के बबन राम का नाम शामिल है.यहां उल्लेखनीय है कि उक्त तीनों डीलरों के खिलाफ ग्रामीणों ने राशन व किरोशीन वितरण में अनियमितता का आरोप लगाया था.यह मामला रांची लोकायुक्त न्यायलय तक ग्रामीणों ने पहुंचाया था.लोकायुक्त में यह मामला पूर्व नगर पर्षद विश्वनाथ पासवान ने परिवार वाद संख्या 01,09/2018 के माध्यम से दायर किया था.लोकायुक्त के निर्देश के बाद ग्रामीणों के आरोप का जांच किया गया था.जांच विश्रामपुर बीडीओ व एमओ के नेतृत्व में जांच टीम द्वारा किया गया था.जांच में ग्रामीणों का आरोप सही पाया गया.जिसके बाद अनुज्ञप्ति निलंबन की कार्रवाई की गई है.जिला आपूर्ति पदाधिकारी द्वारा जारी निलंबन पत्र में कहा गया है कि उक्त तीनों डीलर ग्रामीणों को अनियमित रूप से भी राशन व किरोशीन नही देते थे.ई-पॉस मशीन में अंगूठा लगवाकर पर्चा निकालने के बाद भी ग्रामीणों को राशन-किरोशीन नही देते थे.जिनको देते भी थे उन्हें कम मात्रा व अधिक दाम पर राशन व किरोशीन देते थे.राशन व किरोशीन वितरण में अनियमितता बरतने व अनुज्ञप्ति की शर्तों का उलंघन करने पर झारखंड लक्षित जन वितरण (नियंत्रण) आदेश के कंडिका 27/1, ‘ख’ एवं ‘छः’ के उलंघन के दोषी जाने पर सुरेश यादव,इदरीश अंसारी व बबन राम का अनुज्ञप्ति निलंबित किया गया है.इन तीनो डीलरों से स्पष्टीकरण भी पूछा गया है कि क्यो नही इनका अनुज्ञप्ति रद्द कर दिया जाये. पत्र में यह स्पष्ट उल्लेखित किया गया है कि 15 दिनों के अंदर स्पष्टीकरण का  संतोषपूर्ण जबाब नही मिलने पर उक्त तीनों डीलरों की अनुज्ञप्ति रद्द करने की कार्रवाई शुरू कर दी जायेगी.इतना ही नही जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने निर्देश दिया है कि इन डीलरों के पास जो भी अनाज दुकान में भंडारण किया हुआ है.उसका वितरण प्रखंड आपूर्ति पदाधिकरी के देखरेख में उचित मात्रा व दाम पर किया जाये.

49 total views, 1 views today