खरौंधी(गढ़वा) : प्रखण्ड के शिवालयों में उमड़ी भीड़, लोगों ने किया पूजा अर्चना,सिसरी सुर्य मंदिर में निकला शिव पार्वती विवाह की झांकी

सिसरी सूर्य मंदिर में शिव पार्वती विबाह की झलकिया

 

सिसरी सूर्य मंदिर में उमड़ी भीड़

खरौंधी(गढ़वा) : महाशिवरात्रि के अवसर पर प्रखंड के राजी गांव के गौरीशंकर शिव स्थान और खुरधन पहाड़ी पर सोमवार को मेला का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सोमवार को सुबह से ही शिवभक्तो की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। इस बीच हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने भगवान शिव का जलाभिषेक किया। इस दौरान हर-हर महादेव व बोलबम के जयघोष के साथ पुरा मंदिर परिसर गुंजायमान हो रहा था। मेला परिसर में विभिन्न प्रकार की दुकानें लगी थी। लोग खरीदारी के साथ साथ विभिन्न व्यंजनों का भरपूर आनंद उठाया। मौका पर स्थानीय कलाकारों ने एक से बढ़कर एक भोजपुरी शिव भजन प्रस्तुत कर लोगों का मनोरंजन कराया। कलाकारों द्वारा शिव-पार्वती विवाह व भगवान भोले शंकर की बारात की सुन्दर प्रस्तुती की गई। मौके पर भाजपा नेता सह खरौंधी प्रखंड प्रमुख धर्मराज पासवान ने कहा कि यह शिव स्थान का दृश्य बड़ा मनोरम है। यह स्थान क्षेत्र के लोगों के परंपरागत आस्था का केंद्र है। इसे पर्यटन स्थल के रूप विकसित करने की जरूरत हैै। इसके लिए वे बर्तमान सरकार से मांग करेंगे। इसी प्रकार खुरधन पहाड़ी पर भी आज दिनभर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। उक्त पहाड़ी की काफी उंची चोटी पर शिव स्थान स्थापित होने के बाद भी काफी संख्या में श्रद्धालु वहां पहुंचे। वहीं सिसरी पंचायत में सूर्य मंदिर के प्रांगण में शिव पार्वती विवाह का कार्यक्रम और भव्य मेला का आयोजन किया गया। जिसे सुचारू रूप से लगभग 10 वर्षों से यह कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इस कार्यक्रम का संचालन कर्ता सतीश कुमार सिन्हा, उदय अलबेला, अरविंद मेहता ,अमित कुमार रंजन, आलोक कुमार, ब्रह्मा दत्त प्रसाद, विनोद मेहता, रघुवंशी मेहता, कामेश्वर मेहता, प्रदीप मेहता, सच्चिदानंद कुमार सिन्हा, संतोष कुमार ,उपेंद्र कुमार मेहता, अभय लाल, सोनू कुमार आदि ने इस कार्यक्रम को सफल बनाने में भरपूर सहयोग प्रदान किया मेला में शिव पार्वती विवाह की झलकियां देखने के लिए हजारों की संख्या में पूरे प्रखंड के लोग उपस्थित थे। इस सूर्य मंदिर के प्रांगण में छठ व्रत की भी पूजा पूरे धूमधाम से आयोजित की जाती है। रामनवमी में भी यहां पर कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। जिसमें प्रखंड के सभी लोगों की सहभागिता होती है। वहीं सूर्य मंदिर के प्रांगण में शिव मंदिर भी स्थापित है जहां श्रद्धालुओं ने पुरी श्रद्धा के साथ भगवान भोले शंकर का जलाभिषेक किया। सूर्य मंदिर के प्रांगण में आयोजित मेले में बच्चों का उत्साह देखने लायक था। इधर महाशिव रात्रि के अवसर पर चौरियां में 18 घंटे का अखंड- कीर्तन प्रारंभ किया गया जो कल सुबह आठ बजे समाप्त होगी।

33 total views, 1 views today