केतार(गढ़वा) : सरकारी विद्यालय में नामांकन के लिए लिया गया पैसा

केतार(गढ़वा) : प्रखण्ड  में जहाँ एक ओर शिक्षा विभाग सरकारी स्कुलो में बच्चे को अधिक से अधिक शिक्षा देने एवं नामांकन के लिए लाखो रुपया खर्च कर निःशुल्क शिक्षा के लिए सर्वशिक्षा अभियान चला कर जागरूकता फैला रही है वही दूसरी ओर राजकीय मध्य विद्यालय पाचाड़ूमर में  प्रधानाध्यक नंदकिशोर पासवान की मिलीभगत से उनके सहायक शिक्षक जितेंद्र नाथ पाण्डे के द्वारा एकही परिवार के दो बच्चे का नाम लिखवाने के नाम पर 200-200 रुपया लेने का मामला प्रकाश में आया है। बताते चले कि ग्राम पाचाड़ूमर कमदरवा टोला निवासी मुनि साव की नतनी आरती कुमारी( 9 साल), नाती सूरज कुमार( उम्र 6 ) पढ़ने राजकीय मध्य विद्यालय पाचाड़ूमर प्रतिदिन जाते थे पर उन दोनों का नाम नही लिखा गया था जिसके नाम लिखने के लिए स्कूल के सरकारी शिक्षक जितेंद्र नाथ पांडे बार बार विद्यालय में नामांकन के लिए पैसा मांग रहे थे एवं पैसा नही देने के क्रम में दोनों बच्चों को स्कूल से भगा दिया जा रहा था जिसके अजीज जोकर दोनो बच्चे की माँ ममता देबी ने अपने ससुर मुनि साह के द्वारा 400 रुपया भेजवाया पर अभी तक नाम नही लिखा गया पारा शिक्षकों एवं प्रबंधन समिति के अध्यक्ष बाबूलाल यादव से पूछे जाने पर बताया कि पिछले शुक्रवार को उस बच्चे के अभिभावक आकर स्कूल में हंगामा करने लगें तब हमलोगों जानकारी प्राप्त हुआ जो बिल्कुल गलत बात है।
क्या कहते है प्रधानाध्यापक 
नंदकिशोर पासवान इसमे मेरी कोई संलिप्ता नही है मामले की जानकारी है पर अभी जितेंद्र नाथ पांडे ज्ञान सेतु प्रशिक्षण में वे प्रशिक्षक के रूप में बीआरसी केतार में प्रतिनियोजित है आने पर जांच किया जाएगा
सरकारी शिक्षक  जितेंद्र नाथ पांडे ने बताया कि हमने किसी से कोई पैसा नही लिया है मुझे फसाया जा रहा हैं.
वही प्रखण्ड प्रसार शिक्षा पदाधिकारी राकेश सिंह ने बताया कि मामले की जानकारी नही है इसकी हर हाल में अबिलम्भ जांच की जाएगी और दोषी पाए जाने वालों पर करवाई की जाएगी।

41 total views, 1 views today