बंशीधर नगर(गढ़वा) : हम जिंदा थे, जिंदा है, जिंदा रहेंगे, लेकिन किसी को झारखंड को लूटने नही देंगे : हेमंत सोरेन पूर्व मुख्य मंत्री सह केंद्रीय कार्यकारीअध्यक्ष झारखंड मुक्ति मोर्चा

 

  

बंशीधर नगर(गढ़वा) : झारखंड निर्माण का जो सपना था आज तक अधूरा है । आज भी यहां के आदिवासी, मूलवासी ,दलित, पिछड़े महिलाओं किसान नौजवानों की स्थिति आज भी दयनीय है। उक्त बातें पूर्व मुख्यमंत्री सह प्रतिपक्ष के नेता हेमंत सोरेन ने जमा दो उच्च विद्यालय परिसर में आयोजित जनसभा के दौरान कही। उन्होंने कहा कि सूबे में बहुमत की सरकार चल रही है। लेकिन सरकार आम जनता के अनुरूप नहीं बल्कि एक गुंडा की तरह काम कर रही है। नौजवानों की भावना के साथ खेला जा रहा है । आज प्राथमिक शिक्षा पूरी तरह चौपट है । हजारों स्कूलों में ताले लगे हैं। पारा शिक्षकों के साथ अन्याय किया जा रहा है। किसान आत्महत्या करने को मजबूर हैं। अभी तक 20 लोगों की मौत भूख से हो चुकी है। रोजाना अखबारों में महिलाओं के साथ अभद्रता और हत्या की खबरें आ रही हैं। लेकिन रघुवर सरकार इन समस्याओं से बेफिक्र होकर अपना चेहरा चमकाने में लगी हुई है। करोड़ों रुपए विज्ञापन पर खर्च किया जा रहा है। ऐसा लगता है कि यह मुख्यमंत्री नहीं बल्कि एडवरटाइजिंग कंपनी के हीरो हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार एक बात समझ ले। हम जिंदा थे,जिंदा है और जिंदा रहेंगे।हम भाजपा को झारखंड लूटने की छूट नही देंगे। श्री सोरेन ने कहा कि यहां के नौजवान और बेरोजगार पलायन को मजबूर हैं। लेकिन पलामू, गढ़वा जैसे जिलों में दूसरे राज्यों की गलत नियोजन नीति बनाकर बहाली की जा रही है ।उन्होंने कहा कि झारखंड में सामंतवादी हावी है और कॉरपोरेट घरानों को फायदा पहुंचाकर यहां के लोगों का जमीन और हक छीना जा रहा है। यह मेरा संघर्ष यात्रा अभी रुकेगा नहीं झारखंड निर्माण का जो उद्देश्य था। उसे पूरा करके ही दम लेंगे। हेमंत ने स्थानीय विधायक भानु प्रताप शाही पर हमला बोलते हुए कहा कि विधायक को स्कूल और अस्पताल की जगह जेल बनवाने का फंड सरकार से ले रहे हैं। जेल में गरीब लोगों का शोषण कर झूठा आरोप लगाकर उसे जेल में डालने का प्रयास करेंगे।

वहीं सभा को संबोधित करते हुए वरिष्ठ नेता मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि झारखंड में दिल्ली गुजरात,महाराष्ट्र जैसे बाहरी राज्यों की गिद्ध दृष्टि पड़ गई है। ऐसे लोगों से छुटकारा पाने के लिए हेमंत सोरेन को मजबूत करना जरूरी है।

विधानसभा क्षेत्र के नेता कन्हैया चौक ने कहा कि गढ़वा जिला विकास के मामले में पूरी तरह पिछड़ा हुआ है। यहां के लोग पलायन को मजबूर हैं क्षेत्र में लोकतंत्र लोकतंत्र की जगह राजतंत्र हावी है। विधायक और पूर्व विधायक बारी-बारी से गरीब जनता को लूटने का काम कर रहे हैं। कनहर डैम के नाम पर विधायक भानु प्रताप शाही और उनके और उनके पिता राजनीति कर रहे हैं। विधायक आदिवासियों का जमीन हड़प कर भवन बना रहे हैं। इस संबंध वादियों को जड़ से उखाड़ना होगा। कार्यक्रम में जिला अध्यक्ष तनवीर आलम, अनिता दत्त, नेहा कुमारी धिरेँद्र पांडे, सुरेन्द्र मेहता, कंचन केसरी,सूरजदेव मेहता, निर्मल पासवान, सुरेंद्र प्रसाद गुप्ता, सविता कुमारी,मुकेश कुमार सिन्हा,राम जन्म पासवान, सीता राम पासवान, पृथ्वी तिवारी,नासिर अंसारी,राजेन्द्र यादव सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

सभा के दौरान हड़ताल पर राह रहे पारा शिक्षकों के प्रतिनिधि मंडल ने अपनी मांगों को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा। प्रतिनिधिमंडल को हेमंत सोरेन ने आश्वस्त किया कि उनकी लड़ाई को लेकर पूरी तरह हम उनके साथहै। ज्ञापन देने वालो में भूपेंद्र प्रताप देव, हृदय प्रसाद गुप्ता, अनूप कुमार विश्वकर्मा, निसार अहमद, अलीम अंसारी सहित अन्य शामिल थे।

जेएमएम नेत्री नेहा कुमारी ने समस्त बंशीधर नगर वासियों को मकर सक्रांति की शुभकामनाओं के साथ सभा का समापन की।

13 total views, 1 views today