विशुनपुरा(गढ़वा) : सखी संवाद सह जनता दरबार मे पहुचे डीसी एवं डीडीसी, महिलाएं को दी रोजगार करने की जानकारी

विशुनपुरा(गढ़वा) : ग्रामीण विकास विभाग, झारखण्ड सरकार के तत्वावधान में जे0एस0एल0पी0एस (झारखण्ड स्टेट लाईबलीहूड प्रमोशन सोसाईटी) के द्वारा विशुनपुरा प्रखण्ड परिसर में ’’सखी संवाद सह जनता दरबार कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में विशुनपुरा प्रखण्ड क्षेत्र के भिन्न-भिन्न पंचायतों की स्वयं सहायता समूह की महिलाएं उपस्थित थीं।

कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्यतिथि उपायुक्त हर्ष मंगला, उपविकास आयुक्त नमन प्रियेश लकड़ा एवम वीडियो हुल्लास महतो ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया। कार्यक्रम में झारखंड के रीति अनुसार ढोल नगाड़े के साथ मुख्य अतिथि उपयुक्त हर्ष मंगल का स्वागत किया गया। वही सखी मंडलो को स्वच्छ एवम शसक्त रहने केलिये सपथ दिलाई गई। वही प्रखंड के 29 सखी मंडलो को चक्रीय निधि के तहत उपयुक्त हर्ष मंगला द्वारा 18 लाख पचाशी हजार रुपये का चेक सौपी गयी।
कार्यक्रम में उपस्थित पदाधिकारी महिला समूह की दीदीयों से सीधा संवाद स्थापित करते हुए उनके सशक्तिकरण की बात कही।

मौके पर मुख्यतिथि उपयुक्त हर्ष मंगल ने कार्यक्रम की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि महिलाएं हुनरमंद होकर अपने आप को सशक्त बना सके इसके लिये आपको जानकारी दिया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि महिलाये छोटे-छोटे कुटीर उद्योग स्थापित करने से संबंधित आवश्यक प्रशिक्षण लेकर स्वयं को स्वाबलंबी बना सकती है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा मिलने वाली पैसा से आप सभी महिलाएं अनुसासन से रहते हुये छोटे उधोग लगा कर अपनी आर्थिक अथिति को मजबूत करने का काम करे, ताकि आपके भविष्य का विकास हो सके, उन्होंने कहा कि गांव में 1000 की आबादी पर डीलर समूह बनाने का प्रावधान है जिसपर इस प्रखंड में और 10 समूह बनाने का काम किया जारहा है। उन्होंने कहा कि सभी सखी समूह को अपने घर के आसपास में अधूरा पड़े प्रधानमंत्री आवास के लाभुको को जागरूक कर पूरा करवाने का काम करे ताकि आवास का लक्ष्य पूरा हो सके, उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा नई योजना आने वाली है जिसमे सखी समूहों के द्वारा विधालयो के छात्र छत्राओं का पोसाक बनाना है प्रत्येक पोसाक 400 रु मिलेगा जिसको आप गुणवत्ता पूर्ण पोसाक बना कर अपने बच्चों को विद्यालय भेजने का काम करेंगे, उन्होंने कहा कि सरकर का एक और योजना आने वाली है जिसमे आंगनवाड़ी में मिलने वाली पोशाहार गांव के ही स्वयं सखी समूह बना कर आंगनवाड़ी में देने का काम करेंगे यह एक नई उधोग सामने आने वाली है। उन्होंने कहा कि प्रखंड में अगर पहले से कोई कुटीर उधेग चल रहा है तो उसे सरकार द्वारा सुविधा मुहैया कराया जाएगा।

वही उपविकास आयुक्त नयन प्रियेश लकड़ा ने कहा कि जानकार होकर हीं हम सशक्त बन सकते हैं। सशक्तिकरण के लिए पहला पायदान सूचनाओं का संग्रहण है उन्होंने कहा कि जानकारी रख कर हीं हम अपने अधिकारों को जान सकते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार जो भी सुविधाएं लाभुकों को मुहैया कराती हैै, वह उनका हक होता हैै परन्तु इस अधिकार को लेने के लिए जानकारी रखना आवश्यक है। उन्होंने सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओ के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इनकी जानकारी रखकर स्वयं एवं आस-पड़ोस के योग्य लाभुकों को भी उनका वाजीब हक दिला सकती हैं। उन्होंने समूह की महिलाओं से अपील की कि वे घर की चाहरदीवारी से बाहर निकलें और देश-दुनिया की जानकारी रखते हुए सशक्तिकरण की दिशा में कदम बढ़ायें।

इस दौरान प्रखण्ड विकास पदाधिकारी हुल्लास महतो ने सखी संवाद करते हुए कहा कि सरकार महिलाओं के उत्थान के लिए अनेकों योजनाएँ बनायी है। आज का यह कार्यक्रम भी उन्हीं में से एक है। उन्होंने कहा कि महिलाएँ अपने आप को शिक्षित कर एवं घर की चाहरदीवारी से बाहर आकर हीं सही मायने में सशक्त हो सकती हैं।
वही जिला कार्यक्रम प्रबंधक विमलेश शुक्ला धन्यवाद ज्ञापन स्वरूप संवाद स्थापित करते हुए कहा कि जे0एस0एल0पी0एस महिलाओं को सशक्त बनाने में संकल्पित है।
विदित हो कि विशुनपुरा प्रखण्ड अन्तर्गत कुल 142 महिला समूहों का गठन कर लिया गया है एवं इसमें से आधे से अधिक महिला समूहों का बैंक खाता भी खोल लिया गया है।

मौके पर चिकित्सा उपाधीक्षक सुचित्रा देवी, सांसद प्रतिनिधि अवध बिहारी गुप्ता, विषसूत्री प्रखंड अध्यक्ष रघुनाथ चौधरी, वीधायक प्रतिनिधि कृष्णा विश्वकर्मा, उपप्रमुख रामसहाय राम, मुखिया दिनेश कुमार, सन्तोष कुमार, बलराम पासवान, अशोक पासवान, लतीफ अंसारी, महेंद्र सोनल, अभिजीत सिंह सहित सैकड़ों सखी उपस्थित थे।

137 total views, 1 views today