खरौंधी(गढ़वा) : खरौंधी प्रखंड में सरकार द्वारा धान क्रय केंद्र नही खुलने से ओने पौने दाम पर धान बेचने को बिबस हुए किसान, भवनाथपुर क्रय केंद्र प्रभारी खरौंधी प्रखंड के किसानों को कर रहे हैं परेशान

भवनाथपुर क्रय केंद्र पर से अपना धान वापस ले जाते खरौंधी के खोखा गावँ के किसान अशोक कुमार सिंह

खरौंधी(गढ़वा) : खरौंधी प्रखण्ड में धान क्रय केन्द्र नही खुलने से किसान ओने पौने दामो में धान बेचने को विवश हैं किसान।सरकार ने खरौंधी प्रखण्ड के किसानों को धान बेचने के लिए भवनाथपुर में क्रय केंद खोला है।खरौंधी प्रखण्ड के किसानों को जब धान बेचने के लिए मैसेज आता है तो उस दिन धान लेकर किसान जाते हैं तो धान क्रय प्रभारी किसानों को आज भीड़ है कहकर कल लेंगे किसानों को गुमराह कर देते हैं।अगले दिन जब किसान धान बेचने के लिए वहीं रुकता है तो केंद्र प्रभारी बोलते हैं कि पुनः आपका मैसेज जाएगा तब आप धान लेकर आइएगा।क्रय केंद्र प्रभारी की इस रवैया से खरौंधी प्रखण्ड की किसान काफी आक्रोशित हैं।खरौंधी प्रखण्ड के खोखा के किसान अशोक कुमार सिंह ने बताया कि हमे 20/12/2018 को धान भवनाथपुर धान क्रय केंद्र में जमा करने का मैसेज प्राप्त हुआ।मैं 100 किवंटल धान लेकर भवनाथपुर गया पर वहाँ धान क्रय प्रभारी ने आज भीड होने की बात कह कल लेंगे कह रुकने के लिए बोले पर दूसरे दिन भी धान नही लिया गया।थक कर हम अपना धान वापस ले आए पुनः धान जमा करने के लिए 07/01/2019 को मैसेज आया हम धान लेकर पुनः भवनाथपुर क्रय केंद्र पर गए लेकिन आज भी मेरा धान नही लिया गया।किसान अशोक कुमार सिंह ने बतलाया कि धान क्रय केंद्र पर प्रभारी दलाल रखे हुए हैं जो 100 किवंटल धान पर 5000/पाँच हजार रुपए घूस देगा उसी का धान जमा लिया जा रहा है।मेरे पास पैसा नही होने से आज भी मेरा धान जमा नही लिया गया है। इससे मैं काफी दुखी हूं।सरकार का दावा है कि किसानों के आय हम बढ़ायेंगे, पर आज सरकार का दावा सिर्फ छलावा साबित हुआ है। हम अपने प्रखण्ड से दूर सुदूरवर्ती प्रखण्ड में धान बहुत पैसा खर्च कर बेचने जाते हैं पर वहाँ से हमे लौटा दिया जाता है।हम अब अपनी धान ओने पौने दाम में बाजार में बेचने को मजबूर होंगे।

19 total views, 1 views today