विश्रामपुर (पलामू) :- विश्रामपुर नगर परिषद कार्यालय एक बार फिर से आरोपो के घेरे में

> अध्यक्ष,उपाध्यक्ष व पार्षदों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर चरम पर
> सूबे के स्वास्थ्य मंत्री ने उपायुक्त को दिया जांचोपरांत कार्रवाई का निर्देश
विश्रामपुर (पलामू) :- विश्रामपुर नगर परिषद कार्यालय एक बाद फिर से आरोपो के घेरे में है.नप कार्यालय पर मनमानी व पक्षपात का आरोप पहले भी लगता रहा है.लेकिन इस बार नप कार्यालय पर आरोप कोई राजनीतिक या सामाजिक संगठन नही लगा रहा है.इस बार नप प्रतिनिधि ही एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप की झड़ी लगा रहे है.नप उपाध्यक्ष अनिल कुमार पांडेय के नेतृत्व में पार्षदों का एक प्रतिनिधिमंडल प्रदेश के मुख्यमंत्री रघुवर दास,नगर विकास मंत्री सीपी सिंह,स्थानीय विधायक सह स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी,सांसद बी डी राम व मुख्य सचिव से मिलकर ज्ञापन सौंपा है.ज्ञापन में नप कार्यालय में ब्याप्त अनियमितता व भ्रष्टाचार का उल्लेख किया गया है.ज्ञापन में एक ठीकेदार गोपाल राम जिसे भवन निर्माण विभाग द्वारा डिवार घोषित किया जा चुका है,उसे भी नप कार्यालय द्वारा कार्य आवंटित करने का मामला उठाया गया है.इधर नप कार्यालय व अध्यक्ष प्रतिनिधि नईमुद्दीन अंसारी उस ठीकेदार के पक्ष में खड़ा हो गये है.अब इस मुद्दे को लेकर अध्यक्ष प्रतिनिधि व उपाध्यक्ष आमने-सामने खड़ा हो गये है.किसके आरोप में कितना दम है यह तो जांचोपरांत ही पता चलेगा.लेकिन आरोप-प्रत्यारोप के चलते विश्रामपुर नगर परिषद की छवि काफी धूमिल हुयी है.इधर सूबे के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने पलामू उपायुक्त जो पत्र लिखकर पूरे मामले की जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया है.उन्होंने उपायुक्त को लिखे पत्र में जांच व कार्रवाई के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने को भी कहा है.

12 total views, 2 views today