विश्रामपुर(पलामू) : विश्रामपुर को अनुमंडल बनाने की मांग पर मुखर होकर बोलने लगे लोग

भाजपा नेता वेद प्रकाश शर्मा
मोर्चा के मीडिया प्रभारी राहुल दुबे

> अनुमंडल के मुद्दे पर एक मंच पर आ सकते है कई दल के नेता-कार्यकर्ता
विश्रामपुर(पलामू) : विश्रामपुर को अनुमंडल बनाने की मांग धीरे-धीरे तेज होने लगी है. अनुमंडल की मांग पर आम लोग भी मुखर होकर बोलने लगे है.जो स्थिति बन रही है, उसके मुताबिक अनुमंडल के मुद्दे पर कई दल के नेता-कार्यकर्ता एक मंच पर आ सकते है. इसके लिये गांधी विचार मंच ने प्रयास भी शुरू कर दिया है. अनुमंडल बनाने की मांग के मुद्दे को लगभग सभी दलों का समर्थन प्राप्त है. सभी पार्टी के पूर्व विस प्रत्याशी भी इस मुद्दे को जोर-शोर से उठाकर जनता में अपनी पकड़ मजबूत बनना चाहते है. इधर आम जनमानस से भी विश्रामपुर को अनुमंडल बनाने की मांग उठने लगी है. भजपा नेता दावा कर रहे है कि स्थानीय विधायक सह प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी विश्रामपुर को अनुमंडल बनवाने की प्रक्रिया को कब का शुरू करा चुके है. भाजपाईयों का दावा है कि जल्द ही विश्रामपुर को अनुमंडल का दर्जा मिल जायेगा. असली लड़ाई तो अनुमंडल बनने के बाद विश्रामपुर को जिला बनाने के लिये लड़नी है. जबकि विरोधी इसे सिर्फ राजनीतिक स्टंट मान रहे है.विरोधी दल के नेताओ की माने तो बर्तमान सत्ता बगैर संघर्ष के विश्रामपुर को अनुमंडल का दर्जा देने नही जा रहा है. इसी मुद्दे पर पक्ष व विपक्ष के नेताओ से प्रभात खबर ने बात की.दोनों पक्ष के नेताओ ने विरोधाभाषी तरीके से अपनी-अपनी बात कही.लेकिन दोनों पक्षो ने यह माना कि विश्रामपुर अनुमंडल बनने का सारा अहर्ता पूरा करता है.और विश्रामपुर को अनुमंडल बनना ही चाहिये.
> विश्रामपुर अनुमण्डल ही नही जिला बनने की पात्रता रखता है – वेद प्रकाश शर्मा
भाजपा नेता सह रेल उपभोक्ता संघर्ष समिति के सचिव वेद प्रकाश शर्मा ने कहा कि विश्रामपुर अनुमण्डल ही नही जिला बनने का सभी पात्रता रखता है. विश्रामपुर की भौगोलिक स्थिति भी इस बात को पूरी तरह साबित कर रही है.विश्रामपुर जिला मुख्यालय से 40 किमी दूर है. हरिहरगंज, छतरपुर और हुसैनाबाद की दुरी भी विश्रामपुर से 40 किमी ही दूर है. इस हिसाब से विश्रामपुर मध्य में पड़ता है. विश्रामपुर को अनुमण्डल और जिला बनाने की मांग लोगों की वजीब है. इसलिये सरकार को आमजनों की इस मांग पर गंभीरता और सहानुभूति के साथ विचार करना चाहिये. वैसे स्थानीय विधायक सह प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री रामचन्द्र चंद्रवंशी इस मामले पर सकारात्मक रुख अख्तियार किये हुये हैं, इसलिये विश्रामपुर को जल्द ही अनुमण्डल बनने की पूरी उम्मीद है. उन्होंने कहा कि विश्रामपुर को जिला बनाने हेतु एक संघर्ष समिति का गठन किया जायेगा. जिला बनाओ संघर्ष समिति में सभी दल के लोंगो के अलावा क्षेत्र के समाजसेवी और बुद्धिजीवी को भी शामिल किया जायेगा.संघर्ष समिति के गठन के उपरांत विश्रामपुर को अनुमण्डल बनाते हुये जिला बनाने हेतु चरणबद्ध आंदोलन छेड़ा जायेग.
> बिश्रामपुर को दस वर्ष पहले अनुमण्डल बन जाना चाहिये था – राहुल दुबे
झारखण्ड नव निर्माण मोर्चा के मीडिया प्रभारी राहुल दुबे ने कहा कि विश्रामपुर अनुमण्डल बनने का सभी आहर्ता कब का पूरा कर चुका है. विश्रामपुर को तो दस वर्ष पूर्व ही अनुमण्डल बन जाना चाहिये था.लेकिन जनप्रतिनिधियों के उदासीन रवैये के कारण विश्रामपुर आज तक अनुमण्डल नही बन पाया. श्री दुबे ने कहा कि झारखण्ड नव निर्माण मोर्चा और उसके केंद्रीय अध्यक्ष अभिमन्यु सिंह का स्पष्ट मानना है कि अंतिम व्यक्ति तक विकास की किरण पहुचाने के लिये छोटे-छोटे प्रखंड व अनुमण्डल की अति-आवश्यकता है. ताकि सरकार के कल्याणकारी योजनाओं का लाभ वास्तविक जरूरतमन्दों तक बे-रोक-टोक के पहुंच सके. उन्होंने कहा कि अगर सरकार दो-तीन माह के अंदर विश्रामपुर को अनुमण्डल का दर्जा नही देती है,तो झारखण्ड नव निर्माण मोर्चा क्षेत्र के लोगो के साथ मिलकर व्यापक स्तर पर आंदोलन छेड़ेगा.

85 total views, 1 views today