भवनाथपुर(गढ़वा) : सुकवादमर विद्यालय विलय का मामला पकड़ा तूल

भवनाथपुर(गढ़वा) : भवनाथपुर प्रखण्ड पंडरिया पंचायत के धनीमण्डरा विद्यालय को एनपीएस सुगवादामर में विलय किये जाने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है, भवनाथपुर विधानसभा के भावी प्रत्याशी सह समाजसेवी अनूप तिवारी ने क्षेत्र का दौरा कर शिक्षा से महरूम छात्र एवं उनके अभिभावकों से मिल समस्याए सुनी साथ ही कहा उक्त विद्यालय को चालू कराने के लिए मैं किसी भी हद तक जा ने की बात कहि।अख़बार में खबर छपने के बाद गढवा शिक्षा विभाग के पदाधिकारी के आदेश के बाद  बीईईओ कौशल किशोर चौबे  बुधवार को विद्यालय पहुचने पर ग्रामीणों की भारी आक्रोश को भी झेलना पड़ा। ग्रामीण सुनील पासवान,सर्वेश पासवान, ललन महतो, रामनाथ पासवान अनिल पासवान, रघुनी वियार सहित काफी संख्या में लोगो ने आरोप लगाया कि धनीमंडरा स्कूल में 75 से अधिक छात्र संख्या होने के वावजूद बीईईओ कौशल किशोर चौबे द्वारा राजनीतिक दबाव में आकर इस विद्यालय को बेहद कम छात्र संख्या वाले स्कूल सुगवादामर में मर्ज कर दिया गया जो असंगत है। उक्त विद्यालयी शिक्षा से महरूम4 छात्रों एवं अभिभावकों से मिलने आये क्षेत्र के भावी प्रत्यासी अनूप तिवारी ने कहा धनीमंडरा के छात्रों को सुगवादामर में जाने के लिए उपयुक्त रास्ता भी नही है छात्र को विद्यालय पहुचने में काफी परेशानी होगी, शिक्षा सभी का मौलिक अधिकार है इससे किसी को वंचित नही किया जा सकता है उन्होंने कोनमण्डरा की जनता को भरोसा दिलाया कि विद्यालय पुनः संचालित कराने को लेकर हम किसी भी हद तक जाएंगे,साथ ही उन्होंने उपायुक्त महोदया को पत्र लिखकर विलयन प्रक्रिया को रद्द करते हुए छात्रहित में पुनः विद्यालय संचालित करने की मांग की है। इस बाबत बीईईओ कौशल किशोर चौबे ने बताया कि धनीमण्डरा विद्यालय को एनपीएस सुगवादामर में राजनीतिक प्रभाव में नही बल्कि सरकारी आदेश पर मर्ज किया गया है। ग्रामीणों से बात की है अधिकारो को रिपोर्ट सौपेगे.

177 total views, 1 views today