लातेहार : आदिम जनजाति परिवार को एक साल से कर दी राशन व पेंशन बंद

लातेहार से रूपेश गुप्ता की रिपोर्ट
लातेहार : सरकार की और से आदिम जनजाति परिवार के लिए घर में सरकारी सुविधा उपलब्ध करावाने में कोई कसर नहीं छोड़ जा रही है। लेकिन लातेहार जिले के पदाधिकारी के घोर लापरवाही के कारण आदिम जनजाति परिवार को सरकारी सुविधा नहीं मिल रही है। एक ऐसा ही मामला बुधवार को समाहरणालय में देखने को मिला है। बरवाडीह प्रखंड के नावाडीह पंचायत के झुमरू गांव के आदिम जनजाति परहिया परिवार के दर्जनों  लोगों को एक साल से वृद्धा पेंशन बंद कर दी गई है। आदिम जनजाति परिवार समाहरणालय पहुंचकर हाथ जोड़कर पदाधिकारियों से पेंशन दिलवाने की प्रार्थना की। आदिम जनजाति के परहिया माधव देवी, अनीता देवी, लाखो देवी, शांति देवी, शीला देवी ने बताया की एक वर्ष पूर्व खाता में वृद्धा पेंशन का पैसा मिल जाता था। लेकिन एक साल से हमलोगों को वृद्धा पेंशन व राशन बंद कर दिया गया है। जिससे परहिया जाति के परिवार के समझ भुखमरी की स्थिति उपत्पन्न हो गई है। उन्होंने बताया की अपने बैंक के पासबुक लेकर बरवाडीह प्रखंड विकास पदाधिकारी व बैंक के कर्मचारी के पास गया। लेकिन इनलोगों के द्वारा जिला में संपर्क करने की बात कह कर ताल मटोल कर दिया गया है। सबसे बड़ी बात है कि जिले के उपायुक्त ने महिने के 30 दिन में 25 दिन गांव के क्षेत्र भ्रमण कर आदिम जनजाति परिवार के बीच जाकर समस्या समाधान करने में जुटे है। लेकिन इनके अधिनस्थ पदाधिकारी सरकारी कुर्सी में बैंठकर एसी का हवा लेकर कुर्सी तोड़ रहे है। परहिया जाति के लोगों ने हाथ जोड़कर उपायुक्त राजीव कुमार से राशन व पेंशन दिलवाने की गुहार लगाई है।

121 total views, 1 views today