विश्रामपुर(पलामू) : झारखंड नव निर्माण मोर्चा सुप्रीमो को आधी रात को पुलिस ने किया गिरफ़्तार

मोर्चा सुप्रीमो अभिमन्यु सिंह का फाइल फोटो

> पांच बजे सुबह तक रेहला थाना में व पूरा दिन रखा गया पड़वा थाना में
> मोर्चा ने स्वास्थ्य मंत्री पर लगाया आरोप,कहा फंसाने की रची जा रही साज़िश
फ़ोटो कैप्सन :- मोर्चा सुप्रीमो अभिमन्यु सिंह का फाइल फोटो
विश्रामपुर(पलामू) :
झारखंड नव निर्माण मोर्चा के केंद्रीय अध्यक्ष अभिमन्यु सिंह उर्फ बबलू सिंह को पुलिस ने आधी रात को गिरफ़्तार कर लिया.अभिमन्यु सिंह रेहला में एक शादी समारोह से निकलकर अपने घर मेदिनीनगर वापस जा रहे थे.शादी समारोह से बाहर निकलते ही उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.गिरफ़्तारी मंगलवार रात्रि 12:10 बजे की गयी. रेहला, नवाबजार व पड़वा पुलिस संयुक्त रूप से गिरफ़्तार की.सुबह के पांच बजे तक अभिमन्यु सिंह को रेहला थाना में बैठाकर रखा गया. उसके बाद उन्हें पड़वा थाना ले जाया गया. जहां उन्हें समाचार लिखे जाने तक बैठाकर रखा गया है.अभिमन्यु सिंह के साथ मोर्चा के मीडिया प्रभारी राहुल दुबे व उनके प्राइवेट अंगरक्षकों को भी थाना में बैठाकर रखा गया है.अभिमन्यु सिंह के गिरफ़्तारी से मोर्चा नेताओ व कार्यकर्ताओं में काफी आक्रोश व्याप्त है.मोर्चा नेताओं का आरोप है कि सूबे के स्वास्थ्य मंत्री के दबाव में पुलिस एक साजिस के तहत अभिमन्यु सिंह को फसाने का प्रयास कर रही है.इधर दूरभाष पर अभिमन्यु सिंह ने बताया कि पुलिस गिरफ़्तारी का कारण भी नही बता रही है. बगैर दोष बताये मुझे प्रताड़ित किया जा रहा है.श्री सिंह ने कहा कि मेरे बढ़ते राजनीतिक कद से दुःखी हो कर राजनीतिक प्रतिद्वंदी मुझे फसा रहे है. इन सब गिरी हुई हरकतों से मेरी लोकप्रियता और बढ़ेगी. मैं किसी के दबाव में आने वाला नही हूं.और न ही मैं किसी से डरने वाले हूं.चाहे भले ही मुझे फांसी पर चढ़ा दिया जाये.यहां उल्लेखनीय है कि पिछले विधान सभा चुनाव में मोर्चा प्रत्याशी अंजू सिंह दूसरे स्थान पर रही थी. चुनाव परिणाम के बाद से मोर्चा का क्षेत्र में जनाधार दिनोदिन बढ़ रहा था.मोर्चा के केंद्रीय अध्यक्ष अभिमन्यु सिंह हमेशा क्षेत्र मे सक्रिय रहते है.
> आप ने बबलू सिंह के गिरफ्तारी का किया निन्दा
आम आदमी पार्टी के विश्रामपुर विधान सभा संयोजक हर्षधर दुबे ने अभिमन्यु सिंह के गिरफ़्तारी की कड़ी निन्दा की है. हर्षधर दुबे ने कहा कि सत्ता व पावर का दुरुपयोग कर अभिमन्यु सिंह को बेबजह फंसाया जा रहा है.यह पूर्णतः राजनीतिक बदले की कार्रवाई है. लोक तंत्र का गला घोटते हुये राजनीतिक विरोधियों का आवाज बंद करने का प्रयास है.उन्होंने कहा कि अगर 48 घण्टे के अंदर अभिमन्यु सिंह को रिहा नही किया गया, तो आम आदमी पार्टी सड़क पर उतरेगी.

392 total views, 1 views today