लातेहार : विभाग ने बनाया था लाखों का प्राक्कलन, साहब ने चंद पैसे में करा दी योजना को पूर्ण

लातेहार : उपायुक्त राजीव कुमार का मानना है कि जबतक जिले में ठिकेदारी प्रथा समाप्त नहीं होगी तब तक गाव का विकास संभव नहीं है। अपने इसी सोच की सार्थकता सिद्ध करने को लेकर उपायुक्त राजीव कुमार ने एक अनोखी पहल की है। उपायुक्त श्री कुमार गांव में पहुंच ग्रामीणों से सीधा संवाद कर स्थापित कर रहे है और ग्रामीणों के द्वारा गांव के विकास को लेकर बताएं जा रहे समस्या का समाधान ऑन स्पॉट कर समास्या समाधान कर दे रहे है। उपायुक्त के इस अंदाज के कारण जहां सरकार के करोडों रूपये बच रहे है वही गांव की योजना धरातल पर उतर कर ग्रामीणों के आर्थिक स्वालंबन का राह खोल कर ग्रामीणों को विकास की नई राह दिखाई है।
> उपायुक्त ने की नई परंपंरा की शुरूआत
 देश एव राज्य में बढ़ती ठीकेदारी प्रथा के कारण फैले भ्रष्टाचार पर अंकूश लगाने को लेकर उपायुक्त राजीव कुमार ने अपने पदस्थापना के बाद से जिले को विकास के नए आयाम देने को लेकर नई परपंरा की शुरूआत की। उपायुक्त अपने पदस्थापना के साथ जिले के ऐसे तमाम नक्सल क्षेत्र में पहुंच ग्रामीणों से रू-ब-रू हो रहे है वही ग्रामीणों के द्वारा बताएं जा रहे विकास योजनाओं की स्वीकृति ऑन स्पॉट प्रदान कर रहे है जिसमें  ग्रामीणों की भागदारी से योजना को मूर्त रूप देने का कार्य कर रहे है।
> विभाग ने बनाया था लाखों का प्राक्कलन, साहब ने चंद पैसे में करा दी योजना को पूर्ण
उपायुक्त राजीव कुमार के अनोखे कार्यशैली से सरकार के लाखों रूपये बिचौलियों के जेब में जाने से बच गए। उपायुक्त श्री कुमार के द्वारा ऐसे कई विकास योजनाएं का जिसका विभागीस्तर पर लाखों रूपये का निविदा निकालने की तैयारी की जा रही थी ताकि योजना को लूटा जा सके। लेकिन उपायुक्त श्री कमार गांव पहुंच ग्रामीणों ने बात की और वहां खड़े चंद मीनट में योजना में आने वाले खर्च का आकलन कर स्वीकृति प्रदान की स्वीकृति योजना को चार से पांच दिनों में पूर्ण भी करा दिया। उपायुक्त श्री कुमार के द्वारा चंदवा के सांसग गांव में कैनाल निर्माण, बारियातु में बांध निर्माण के लिए सात लाख का प्राक्कलन बनाया जा रहा था जिसे महज 80 हजार में पूर्ण करवा दिया। बरवाडीह स्थित उकामाड़ गांव में भी लिपफट एरिगेशन का कार्य मात्र चंद पैसे में पूर्ण करा दिया।
> ग्रामीणों के दिलों में जिला प्रशासन की बन रही है छवि
उपायुक्त राजीव कुमार के द्वारा ग्रामीणांं से सीधा संवाद किए जाने के कारण ग्रामीणों के दिलों में उपायुक्त एवं जिला प्रशासन के अधिकारियों की छवि साकारात्मक बन रही है। जहां ग्रामीणों को सरकारी तंत्र से जुडे छोटै कर्मियों से भी मिलने में भारी परेशानी होती थी वही ग्रामीणों को उपायुक्त सहज ही मिल जा रहे है। सबसे बडी बात है कि ग्रामीणों को अब उपायुक्त से मिलने के लिए जिले के चक्कर नहीं लगाने पड़ रहे है बल्कि उनके गांव में ही उपायुक्त पहुंच जा रहे है और उनके समस्या समाधान ऑन-स्पॉट कर दे रहे है।
> उक्कामाड़ पहुंच योजना का लिया जायजा
उपायुक्त राजीव कुमार ने बरवाडीह प्रखंड के आठ वर्षो से बंद पडे लिफट
एरिगेशन के  दो दिनों के अंदर चालू हो जाने पर उपायुक्त राजीव कुमार शुक्रवार को उक्कामाड़ पहुंच योजना का निरीक्षण किया। उपायुक्त के सार्थक प्रयास के कारण दो दिनों में एरिगेशन चालू करवाने पर ग्रामीणों ने उपायुक्त को साधूवाद दिया। ग्रामीणों ने उपायुक्त को बताया कि अब गांव के पांच सौ एकड़ से भी अधिक खेतों में पटवन होगा।
> बच्चों को दे गुणवता पूर्ण शिक्षा : उपायुक्त
उपायुक्त राजीव कुमार ने जिले के शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाने को लेकर बरवाडीह पहुंचे प्रखंड कार्यालय में सीआरपी एवं बीआरपी के साथ बैठक किया। बैठक के दौरान उपायुक्त श्री कुमार ने शिक्षा कर्मियों से कहा कि विद्यालय में बच्चो को गुणवता पूर्ण शिक्षा मिले इसे अधिकारी सुनिश्चित करें। बैठक के दौरान उपायुक्त ने स्पष्ट कहा कि सरकार बच्चों को गुणवता पूर्ण शिक्षा देने के लिए कई योजना संचालित हो रही है लेकिन योजना का लाभ बच्चों तक नहीं पहुंच पा रहा है जो काफी दुर्भाग्य पूर्ण है उन्होंने सीआरपी एवं बीआरपी को योजना का लाभ बच्चों तक पहुंचाने के लिए कार्य योजना के तहत कार्य करने का निर्देष दिया। इस दौरान उन्होंने  प्रखंड मे कार्यरत बीआरपी एवं सीआरसी से प्रखंड में गुणवता पूर्ण कैसे शिक्षा मिले इसे लेकर उनकी राय जानी। बैठक के दौरान सीआरसी एवं बीआरपी के द्वारा शिक्षको को कर्तब्य के प्रति सजग रखने, अधिक दिनों से पदस्थापित शिक्षको को विद्यालय से स्थानांतरण करने समेत अन्य अन्य बातों से उपायुक्त को अवगत कराया। जिस पर उपयाक्त श्री कुमार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिय। मौके पर प्रखंड विकास पदाधिकारी दिनेश कुमार, प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी कमलेश कुमार सिंह, आशीष पाण्डेय, सीआरसी, बीआरसी उपस्थित थे।
> स्कूल चले चलाएं अभियान को सफल बनाने पर विमर्श
15 से 30 जून तक विद्यालय चले चलो अभियान की सफलता को लेकर उपायुक्त राजीव कुमार ने बीईईओ को स्कूल चले चलाएं अभियान की  सफलता को लेकर शिक्षा कर्मियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। इस दौरान उन्होंने विद्यालय में बच्चों का शतप्रतिशत नामांकन, विद्यालय में नामांकन के बाद उपस्थिती सुनिश्चित करने का निर्देश दिया.

154 total views, 1 views today