मेदिनीनगर(पलामू) : महापौर की पहली बैठक में तानाशाही

मेदिनीनगर(पलामू) : निगम के पहली बैठक में दिखा अलग अलग नियम। निगम के बैठक में महापौर, उपमहापौर कार्यपालक पदाधिकारी वार्ड आयुक्त के अलावा किसी भी बाहरी लोगो को बैठने की अनुमति नहीं दी गयी थी। उपमहापौर के साथ आये लोगो को भी बाहर कर दिया गया लेकिन महापौर के साथ आये दो लड़कियो को किसी ने बाहर जाने को नहीं कहा। जबकि सञ्चालन कर्ता ने बार बार कहा की सभी लोग बाहर चले जाये लेकिन महापौर के दो लोगो को बाहर नहीं भेजा गया।जिसे लेकर चर्चाओ का माहौल बन गया और लोगो ने कहा की महापौर के तानासाही रैवाय शुरू हो गया है. मैंने भी खबर को दिखाने से पीछे नहीं हटा क्योंकि में स्वतंत्र हूं। नियम हर एक को बराबर है ।चाहे महापौर हो चाहे उपमहापौर हो चाहे वार्ड पार्षद ऐसा क्यों होता है। जब मेरा सवांददाता  बोर्ड की बैठक से बाहर निकला तो बाहर में लोगों में नाराजगी देखी। और मैंने भी पूछा दीया लोगों से  किस बात की नाराजगी है. उन लोगों ने बोला  महापौर का  तानाशाही है. मैं अपना कलम उठा कर न्यूज़ का स्क्रिप्ट लिख दिया। क्योंकि मैंने भी सोचा  कलम उठेगी लोगों के लिए लोगों के लिए । न्यूज़ चैनल बना है  लोगों की  लिए।

116 total views, 1 views today