बिशुनपुरा(गढ़वा) : ओडीएफ घोषित होने के बाद भी खुले में शौच करते हैं ग्रामीण

अधूरा शौचालय दिखाती हुई महिला
बिशुनपुरा(गढ़वा) : पुरे प्रखंड को खुले में शौच मुक्त एक दिसंबर 2017 को कर दिया गया है। जिसका गवाह राजकीय मध्य विद्यालय के फिल्ड में जिले के पदाधिकारी, स्वच्छता विभाग के पदाधिकारी, क्षेत्रीय विधायक, उपविकास आयुक्त, प्रखंड कर्मी, अंचल कर्मी, पुरे प्रखंड की जनता इसका साक्षी बने। आपको बताते चले की बिशुनपुरा प्रखंड में लगभग 6000 शौचालय बनाने थे  विभाग द्वारा जानकारी मिली की लगभग चार हजार शौचालय बना दिया गया है। लेकिन धरातल पर स्थिति और ही दिख रही है । बाकि बचे लाभुकों का शौचालय नहीं बन रहा है कारन बिशुनपुरा प्रखंड को ओडीएफ. बिशुनपुरा प्रखंड में कुल 4477 शौचालय का निर्माण कराया गया है। ऐ जानकारी प्रखंड कोडिनेटर राम किशुन ने दिया था।  इसी के आधार पर इस प्रखंड को ओडीएफ कर दिया गया है। लेकिन धरातल पर जाने पर स्थिति कुछ और दिख रही है प्रसासन का यह दावा सही हो सकता है की उन्होंने सभी परिवारो के लिये शौचालय बनवा दिये है। की बिशुनपुरा प्रखंड के लोग अब शौच के लिये घर से बाहर नही जा रहे है यह बात सही साबित नही हो रही है. इसका उद्धाहरण है सरांग पंचायत के वार्ड न 3, 2, और 6 में,  बिशुनपुरा पंचायत के वार्ड न 8 में सहित पतिहारि पंचायत, पिपरी पंचायत और अमहरखास पंचायत में जिनका शौचालय नही बना है वे लोग खुले शौच जाने के लिये खेतो में, थाना से सटे बाकि नदी के किनारे, पोखरा चौक स्थित तलाब के किनारे, करचा बस्ती में सड़क के किनारे  सहित आस पास के क्षेत्र में ओडीएफ की धज्जिया उड़ती देखि जा रही है। लोग बचपन से ही खुले में शौच जाने के लिए अभी भी मजबूर है. बिशुनपुरा प्रखंड को शौच मुक्त घोसित कर दिया गया है, और उनको अपने प्रखंड का स्वाभिमान का भी ख्याल नही दिखता है, यधपि जिला एवम् प्रखंड की ओर से इसके लिये जागरूकता अभियान चलाने के साथ ही साथ कभी गुलाब का फूल देकर, तो कभी सिटी बजा कर, कभी गांव गांव टोलो में कमिटी बनाकर खुले में शौच को रोकने के लिये प्रयास किया गया था। लेकिन इसके बाद भी लोग नही मानते है । क्योकि शौचालय बना ही नही, प्रखंड के सरांग पंचायत के वार्ड न 6 में इंद्रभुसन पाण्डेय, वार्ड 2 में उमेश राम, मनोज राम, रघुनाथ राम, वार्ड 3 में राजकुमार राम सहित का नाम सामिल है। वही पंचायत बिशुनपुरा में वार्ड न 8, में  राजकुमार साह, धर्मेन्द्र प्रसाद,  कृष्णा राम, गिरवर राम, अजय चन्द्रवँशी, सहित घरो में अभी भी शौचालय नही बना है , इसी प्रकार अन्य पंचायत में भी सैकड़ो शौचालय अभी भी नही बना है, जिसके कारण लोग खुले में शौच जाने को विवश है, जिस पर यहा के ग्रामीण ओडीएफके दिन आवेदन देकर शौचालय नही बनने का सिकायत भी किया था लेकिन ओडीएफ हो जाने पर प्रसासन बेखबर नजर आरही है ग्रामीणों का शौचालय नही बनने से नीरास नजर आरहे है। और खुले में शौच जाने को मजबूर है। कई लोगो ने विभाग को आवेदन भी दिया है, लेकिन शौचालय नही बना, विभागीय अधिकारी कहते है की अब शौचालय मनरेगा विभाग बनवाया जायेगा, लेकिन उस विभाग से भी अभी तक शौचालय नही बनवाया गया। इस सम्बंध में विशुनपुरा प्रभारी बीडीओ मुरली यादव ने कहा कि पर घर एक शौचालय बनवाना है।  नियम के तहत ही शौचालय बना है, किसी कारण वश अगर शौचालय नही बना है तो संज्ञान में आने के बाद जांच कर ही नियमनुसार शौचालय बनवाया जाएगा।

130 total views, 1 views today