गढ़वा : 15 को घर-घर जाकर खिलाई जाएगी कृमिरोधी दवा

प्रेसवार्ता करते सीएस डॉ टी हेंब्रम एवं डीएस डॉ एन के रजक

गढ़वा : राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर विगत 8 फरवरी को जिले में करीब 4.5 लाख बच्चों व किशोरों को कृमिनाशक दवा खिलाई गई है। गढ़वा जिले में एक से 19 वर्ष उम्र तक के छह लाख चार हजार लोगों को कृमिनाशक एल्बेंडाजोल गोली खिलाने का लक्ष्य रखा गया था। उक्त बातें सिविल सर्जन डॉ. टी. हेम्ब्रम ने सदर अस्पताल में आयोजित पत्रकार वार्ता में कही। उन्होंने कहा कि शेष बचे बच्चों को 15 फरवरी को दवा खिलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि उस दिन मॉप अप दिवस के रुप में मनाते हुए जो बच्चे विद्यालय में नहीं पढ़ते हो वैसे बच्चे को स्वास्थ्य सहिया के द्वारा आंगनबाड़ी में दवा खिलाएंगी। सीएस ने कहा कि कृमिनाशक दवा का सेवन वर्ष में दो बार किया जाना है। मानव शरीर में कृमि की उपस्थिति बहुत नुकसान पहुंचाती है। लापरवाही से लोग दवा खाते नहीं हैं। इससे स्थिति धीर-धीरे खराब हो जाती है। उन्होंने कहा कि विशेषकर बच्चों के शरीर में कृमि की उपस्थिति घातक हो सकती है। इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग की ओर से इसके विरुद्ध अभियान चलाकर लोगों को जागरुक करने के साथ ही दवा खिलाने का कार्य होता है। सीएस ने कहा कि एक से दो वर्ष के बच्चों को एल्बेंडाजोल की आधी गोली दी जाती है। वहीं दो से 19 वर्ष उम्र वालों को एल्बेंडाजोल की एक गोली खिलाई जाती है। उन्होंने कहा कि मॉप अप दिवस पर छुट गए लोगों को दवा खिलाने के लिए स्वास्थ्य सहिया सहित सभी संबद्ध कर्मियों को निर्देश दिए गए हैं। पत्रकारवार्ता में डीएस डॉ. एनके रजक भी मौजूद थे।

156 total views, 1 views today