Big Breaking- पिता और प्रेमी ने काटा लड़की का गला, हैदरनगर कर्ब्रिस्तान कांड का खुलासा

गिरफ्तार पिता रामप्रवेश राम और प्रेमी रंजीत उर्फ बबलू

मेदिनीनगर:  सुनने में यह बड़ा अजीब लगता है लेकिन यह सच है कि पिछले दिनों हैदर नगर में पूजा कुमारी नामक लड़की की गला काटकर की गई हत्या में उसके अपने ही पिता और अपने प्रेमी का हाथ है। अजीब बात तो यह यह कि पिता और प्रेमीें ने साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया था।
घटना के महज 24 घंटों के अन्दर पलामू पुलिस ने मामले का उद्भेदन करते हुए शामिल दोनों हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया। पलामू एसपी इंद्रजीत महथा के निर्देष पर हुसैनाबाद अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मनोज कुमार महतो, हैदरनगर अंचल पुलिस निरीक्षक राकेष सिंह हैदरनगर थाना प्रभारी राकेष कुमार आदि की टीम ने अपनी सुझबुझ और वैज्ञानिक तरीकों का प्रयोग करते हुए हत्यारों की पहचान करते हुए उनको गिरफ्तार कर लिया। एसपी इंद्रजीत महथा ने पत्रकार वार्ता कर यह जानकारी दी।

क्या है पूरा मामला

दरअसल मृतिका पूजा कुमारी का पिता रामप्रवेष राम और कथित प्रेमी रंजीत उर्फ बबलू एक साथ मजदूरी किया करते हैं। रंजीत शादी शुदा है और उसके तीन बच्चे हैं। वह पड़ोस में ही रहता है। प्रतिदिन मजदूरी करने के बाद शाम को रामप्रवेष राम और रंजीत एक साथ रामप्रवेष राम के घर ही शराब पिया करते थे। आने जाने के क्रम में पूजा के साथ रंजीत की नजदिकियां बढ़ती गई। इसके बाद रंजीत ने पूजा के साथ कई बार शारीरिक संबंध भी बनाया। पूजा के बढ़ती नजदिकियों की खबर रंजीत के परिवारवालों को लगी तो दोनो ंपरिवारों में कई बार झगड़ा हुआ।

इधर प्रेम मे ंपागल पूजा रंजीत पर शादी के लिये दबाव देना शुरू की तो रंजीत ने इंकार कर दिया। इस बात से नाराज पूजा दूसरे लड़कों के साथ मेल-जोल बढ़ना शुरू कर दी। जो रंजीत को नागवार गुजरी। पूजा से मिलने के लिये कई लड़के उसके घर आते जाते थे और काफी हंसी मजाक किया करते थे। जो उसके पिता को अच्छा नहीं लगता था।

इसके बाद पिता रामप्रवेष राम ने पूजा की शादी कई जगह करानी चाही लेकिन हर बार शादी कट जा रही थी। इधर पूजा कई लड़कों के साथ बाजार भी जाती थी और पिता की बात भी नहीं मानती थी।
एक दिन रामप्रवेष राम और रंजीत साथ बैठकर शराब पी रहे थे। बातों ही बातों में रंजीत ने कहा कि आजकल तुम्हारी लड़की कई लड़कों के साथ मार्केट घूम रही है। इस पर पिता रामप्रवेष राम ने कहा कि मैं भी उससे परेषान हो गया हूं। इसके बाद दोनों ने पूजा की मिलकर हत्या की योजना बनाई। पहले से खार खाये रंजीत ने पिता को पूरा साथ देने का वादा किया।

कैसे रची हत्या की साजिश

इसके बाद रंजीत फिर से पूजा से फोन पर बातचीत शुरू कर दिया और शादी के लिये हांमी भरा जो केवल एक साजिष थी। पूजा के पिता और रंजीत ने एक धारदार चाकू का इंतजाम किया जिसे गांव के ही एक दुकान में तेज करवाया।

हत्या वाली शाम को रंजीत के पिता रामप्रवेष राम और रंजीत उर्फ बबलू ने एक साथ शराब पिया और घटना को अंजाम देने की तैयारी की। रात एक बजे रंजीत ने पूजा को मिलने के बहाने पोखरा पर कब्रिस्तान के पास बुलाया और पहले शारीरिक संबंध बनाया और फिर गला दबाकर बेहोष कर दिया। इसके बाद पूजा के पिता के आने का इंतजार किया। थोड़ी देर में पिता के आने के बाद दोनों ने मिल पूजा का पहले से तेज करके रखे चाकू से गला काटकर सर को धड़ से बिल्कुल अलग कर दिया ताकि वह जिन्दा न बचे।

पिता और प्रेमी के हत्या में शामिल होने की बात हैदरनगर इलाके में आग की तरह फैल गई है। पिता के ब्यान के आधार पर हत्या में प्रयुक्त चाकू को गोताखोरों की मदद से तालाब से बरामद कर लिया गया है।

272 total views, 1 views today