बरवाडीह । लातेहार । भाजपा नेता के दाह संस्कार में शामिल हुए क्षत्रिय महासभा ट्रस्ट के लोग

बरवाडीह । लातेहार । अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ट्रस्ट के जिला एवं प्रदेश पदाधिकारी आज बरवाडीह पहुँच कर जय जयवर्द्धन सिंह के दाह संस्कार में शामिल हुए। बरवाडीह में हुए भाजपा जिला महामंत्री सह सांसद प्रतिनिधि जयवर्द्धन सिंह की कल अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी । शोकाकुल परिवार से मिलकर शोक संवेदना व्यक्त की। जयवर्धन सिंह जी का निधन अपूरणीय क्षति है। इस मौके झारखंड प्रदेस महासचिव ने जयवर्द्धन सिंह जी के पिताजी जी से मिलकर कहा कि इस दुख की घड़ी में पूरा क्षत्रिय महासभा उनके साथ खड़ा है और शोकाकुल परिवार की हरसंभव मदद करेगी। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही लातेहार SP से मिलकर क्षत्रिय महासभा दोषियों को गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग करेगी । इस मौके पर क्षत्रिय महासभा के एन बी सिंह, सौरभ सिंह, मनीष सिंह, सोमेश सिंह, विश्वजीत सिंह, आनंद सिंह, रजनीकांत आदि मौजूद थे ।

54 total views, no views today

बिग ब्रेकिंग | नावा बाजार । लातेहार । बीजेपी नेता और सांसद प्रतिनिधि जयवर्धन सिंह को अज्ञात अपराधियों ने मारी गोली, मौके पर हुई मौत

> बरवाडीह के सांसद प्रतिनिधि थे जयवर्धन सिंह

> बरवाडीह बस स्टैंड पर देर शाम को हुई गोलीबारी

नावा बाजार । बरवाडीह। पलामू । लातेहार जिला के बरवाडीह प्रखंड मुख्यालय में रविवार की देर शाम अज्ञात अपराधियों ने चतरा सांसद के जिला प्रतिनिधि और भाजपा नेता जयवर्धन सिंह की गोली मार कर हत्या कर दी गई है।

जयवर्धन सिंह बरवाडीह बस स्टैंड के पास अपनी ही दुकान में बैठे थे कि अचानक अज्ञात हमलावरों ने उन पर गोलियां चला दी। गोलियां लगते ही जयवर्धन सिंह वहीं गिर पड़े और उनकी मौके पर ही मौत हो गयी।

श्री सिंह चतरा के भाजपा सांसद सुनील कुमार सिंह के जिला प्रतिनिधि थे।हत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है। पुलिस टीम ने मौके पर पहुंच कर मामले की पड़ताल शुरू कर दी है।

48 total views, no views today

नावा बाजार। लातेहार। पेट्रोल डीजल मुल्यवृद्धि के खिलाफ माकपा ने लातेहार में प्रधानमंत्री का पुतला फुंका

> संकट में जनता. पेट्रोल डीजल का दाम अस्सी पार शर्म करें मोदी सरकार : अयुब खान

नावा बाजार। लातेहार। चंदवा। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) (माकपा) ने कामता स्थित चौंक में लॉकडाउन सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए पेट्रोल डीजल की मुल्यवृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन कर आक्रोश व्यक्त किया, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फुंका, इसमें शामिल लोग पेट्रोल डीजल का दाम कम करो, मोदी सरकार कुछ तो शर्म करो, कोरोना संकट मे महंगाई की मार शर्म करो मोदी सरकार आदि नारे लगा रहे थे, इस कार्यक्रम में शामिल लोगों को संबोधित करते हुए पार्टी के पूर्व जिला सचिव सह चतरा लोकसभा क्षेत्र के पूर्व प्रत्याशी अयुब खान ने कहा है कि पेट्रोल डीजल की दामों में लगातार बढ़ोतरी किए जाने से देश की आमजनता केंद्र की भाजपा नेतृत्व वाली जनविरोधी मोदी सरकार से त्रस्त हैं, इनके गलत नीतियों ने देश की जनता को सड़क पर लाकर खड़ा कर दिया है, लोगों के काम और रोजगार खत्म हो गए हैं, आमदनी नहीं है, उपर से महंगाई ने पहले ही कमर तोड़ दी है, अंतर्राष्ट्रीय बाजार मे कच्चे तेल की कीमत में कमी आने के बाद भी इसका फायदा देश की जनता को नहीं हो रहा, वैश्विक महामारी लॉकडाउन के कारण भुखमरी जैसी स्थिति है, ऐसी संकट में प्रति दिन डीजल पेट्रोल का दाम बढ़ने से जनता पर चौतरफा बोझ पड़ रहा है, शनिवार को लगातार 21वें दिन दामों में बढ़ोतरी हुआ है, अब पेट्रोल 80 के पार हो गया है, जबकि डीजल तो पहले से ही यह आंकड़ा पार कर चुका है, केंद्र सरकार के लिए यह कमाई का जरिया बन गया है, फिलहाल ही केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर 10 और डीजल पर 13 रुपये प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी सीधे बढ़ाकर पेट्रोलियम कंपनियों को फायदा पहुंचाया जा रहा है, आज तेल पर जनता से भारी भरकम टैक्स वसूला जा रहा है, पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों का सबसे ज्यादा असर हाशिये पर खड़े गरीबों, किसानों और मजदूरों पर पड़ता है, केंद्र की क्रूर सरकार ने दाम बढ़ाकर पहले से बेरोजगारी, महंगाई से जूझ रही आमजन के छोटी आमदनी को भी चूस लेने और उन्हें गढ्ढे में ढकेलने का कार्य की है साथ ही आम आदमी की जेब पर डाका डाला है, पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों के कारण महंगाई आसमान छु रही है, लोगों की रोजमर्रा की जरूरतों की चिजें, खाने पीने की समानों, यूरीया डीएपी खाद्य, बीज, परिवहन माल भाड़ा और मंहगा हो जाएगा, जो सरकार मुसीबत में लोगों को राहत पहुंचाने के बजाय परेशानी में डाले उस सरकार को सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है, इस संकट के समय सरकार ने किमत में वृद्धि कर लोगों के जले हुए जख्म पर नमक छिड़कने का काम किया है जो बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है, पार्टी ने पेट्रोल डीजल की दाम प्रति लिटर 30 रूपये से कम करने की मांग की है, प्रदर्शन में साजीद खान, अजीज खान, इजहार खान, इस्तेखार खान, सनीफ मियां, सजेबुल खान, नसीम खान समेत कई लोग शामिल थे।

12 total views, no views today

नावा बाजार । लातेहार। बिजली पानी बिल होल्डिंग टैक्स की माफी को लेकर माकपा का प्रदर्शन

> लॉकडाउन की अवधि का बिजली पानी बिल होल्डिंग टैक्स की वसूली करना लोगों के साथ अन्याय : अयुब खान

नावा बाजार। लातेहार ।चंदवा। – भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) (माकपा) ने लॉकडाउन सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए कामता में बिजली ट्रांसफार्मर के सामने बिजली पानी बिल होल्डिंग टैक्स की माफी को लेकर प्रदर्शन किया, छह माह का संपूर्ण बिजली पानी बिल और नगरपालिका नगर निगम छेत्र के होल्डिंग टैक्स माफ करने की मांग झारखंड के लोकप्रिय मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सरकार से की है, पार्टी के पूर्व जिला सचिव सह चतरा लोकसभा क्षेत्र के पूर्व प्रत्याशी अयुब खान ने प्रदर्शन कार्यक्रम में बोलते हुए कहा है कि नोटबंदी जीएसटी से आम जनता पहले से ही आर्थिक मंदी से जूझ रही थी, आजीविका चलाने के लिए वे जद्दोजहद कर रहे थे, इसी बीच कोरोना वायरस लॉकडाउन ने सबकुछ तबाह कर दिया, शहर में करीब सत्तर तथा ग्रामीण क्षेत्रों में पचास प्रतिशत रोजगार खोकर लोग घरों में पड़े हुए हैं, उनकी आय कि स्थिति बुरी तरह चरमरा गई है, आर्थिक तंगी झेल रहे लोगों को खाने पीने बिमारी के ईलाज बच्चों की पढ़ाई लिखाई के लिए परेशानी बढ़ गई है, पैसे की कमी के कारण किसानों की कृषि कार्य बुरी तरह प्रभावित है, गरीब किसान मध्यम वर्गीय परिवारों की हालत इस समय अत्यंत ही दयनीय हो गई है, उनके समक्ष खाने के लाले पड़े हैं, लोगों के हांथ में पैसे नहीं है, ऐसी अर्थाभाव कि भयावह स्थिति कभी नहीं हुई थी, कोबिड – 19 की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा लिए गए फैसले के साथ राज्य की जनता कंधा से कंधा मिलाकर खड़ी थी, इसके चलते करीब चार महीने से होटल दुकान व्यवसाय रोजगार मजदुरी कार्य व प्रतिष्ठान पुरी तरह से बंद रहा, अब इधर दुकान खुला भी है तो सामान कि बिक्री नहीं हो रही है, वैश्विक महामारी के दौरान ग्रामीणों की आमद पर बुरी तरह असर पड़ा है, आधे से अधिक आबादी सरकार से मिल रहे खाद्यान्न से जिवित हैं, लॉकडाउन के दौरान चार माह तक दुकानदारों ने अपने अपने दुकान एवं कार्यालयों में बिजली नहीं जलाई है, बदहाल अर्थव्यवस्था और जिंदगी पटरी पर आने में वर्षों लग जाएंगे, परेशान जनता को सरकारी सहायता कि शख्त जरुरत है, ऐसी परिस्थिति में आर्थिक बोझ से कराह रही आम जनता बिजली पानी का बिल और नगरपालिका छेत्र का होल्डिंग टैक्स की राषी कैसे जमा कर पाएंगे, लॉकडाउन की अवधि का बिजली पानी बिल होल्डिंग टैक्स की वसूली करना समस्याओं से घिरे लोगों के साथ अन्याय होगा, पार्टी ने 6 माह की बिजली पानी का बिल होल्डिंग टैक्स माफ करने की मांग राज्य सरकार से की है, प्रदर्शन मे ओसामा खान, अमजद खान, पूर्व पंचायत समिति सदस्य फहमीदा बीवी, बानो बीवी शामिल थे।

18 total views, no views today

नावा बाजार। लातेहार।सैनिकों पर हमले का मुंहतोड़ जवाब दें मोदी सरकार : अयुब खान

> चीन सैनिकों के द्वारा की गई भारतीय जवानों पर रॉड से हमले के खिलाफ लातेहार में माकपा का प्रदर्शन।

> कैंडल जलाकर देश के शहीद जवानों को दिया श्रद्धांजली।

नावा बाजार। लातेहार। चंदवा। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) (माकपा) ने भारत – चीन सीमा स्थित लद्दाख के गलवान घाटी पर चीन सैनिकों के द्वारा की गई भारतीय जवानों पर रॉड से हमले के खिलाफ कैंडल जलाकर प्रदर्शन किया, दो मिनट का मौन रखकर देश के शहीद जवानों को श्रद्धांजली दी, आक्रोश व्यक्त किया, चीनी सैनिकों द्वारा भारतीय सैनिकों पर किए गए हमले का मुंहतोड़ जवाब दो, देश के शहीद सैनिक अमर रहे आदि नारे कार्यकर्ता लगा रहे थे, हाथों में तिरंगा झंडा और तख्ती लिए हुए थे, पार्टी ने सैनिकों की मौत पर गहरी संवेदना और दुख प्रकट किया, इस अवसर पर बोलते हुए पार्टी के पूर्व जिला सचिव सह चतरा लोकसभा क्षेत्र के पूर्व प्रत्याशी अयुब खान ने कहा है कि भारत – चीन सीमा के गलवान घाटी पर बने तनाव को दोनों देशों की ओर से कम करने का प्रयास किया जा रहा था, इसी बीच चीन के सैनिकों ने धोखे से भारतीय जवानों पर आधी रात को रॉड लाठी से हमला कर दिया, इस हमले में भारत के करीब बीस सैनिक शहीद हुए हैं और कुछ जख्मी हैं जो जूझ रहे हैं, जो दुर्भाग्यपूर्ण है, सैनिकों की शहादत व्यर्थ नहीं जाए ऐसी शख्त कार्रवाई किए जाएं, हम सभी देशवासी सैनिकों के साथ हैं, इस हमले का मुंहतोड़ जबाव केंद्र की भाजपा नेतृत्व वाली नरेंद्र मोदी सरकार को देना चाहिए, तभी चीन के सैनिक ऐसे हरकत करने से बाज आएंगे, आज चीन के सैनिक भारत की जमीन पर कब्जा किए हैं जिसे मुक्त कराने की जरूरत है, साथ ही सीमा में बने तनावपूर्ण परिस्थिति से देश को अवगत कराया जाना चाहिए, देश की जनता को सच्चाई जानने का हक है, पार्टी ने केंद्र सरकार से चीनी सैनिकों द्वारा भारतीय सैनिकों पर हमले का मुंहतोड़ जवाब देने की मांग की है, मौके पर कामता के पूर्व पंचायत समिति सदस्य फहमीदा बीवी, इसराईल खान, सलमान खान, सौदागर खान उपस्थित थे।

26 total views, no views today

नावा बाजार । लातेहार । नस्लवाद सांम्प्रदायवाद की भेदभाव, कोविड-19 से बड़ा विषाणु है: अयुब खा

> अमेरिका पुलिस क्रुरता से अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के खिलाफ माकपा का प्रदर्शन

> कैंडल जलाकर जॉर्ज फ्लॉयड को दी श्रद्धांजली, समर्थन जताया।

नावा बाजार। लातेहार। चंदवा। अमेरिका पुलिस क्रुरता से अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के खिलाफ माकपा ने कामता स्थित घर के दरवाजे पर कैंडल जलाकर हांथों में पोस्टर लेकर प्रदर्शन किया, एक मिनट का मौन रखकर फ्लायड को श्रद्धांजलि दी गई, नस्लीय भेदभाव के खिलाफ तथा फ्लायड के इंसाफ के लिए संघर्ष कर रहे लोगों के साथ एकजुटता व्यक्त किया गया, नस्लवाद सांम्प्रदायवाद का भेदभाव, कोविड-19 से बड़ा विषाणु है, अमेरिका में पुलिस की क्रुरता से मरने वाले अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड को इंसाफ दो, नस्लवाद सांम्प्रदायवाद की भेदभाव को पूरी दुनियां से समाप्त करो लिखे हुए पोस्टर हांथों में लिए हुए थे, कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे माकपा की लातेहार के पूर्व जिला सचिव अयुब खान, परवेज खान, इसराईल खान, फहमीदा बीवी ने कहा अमेरीका में 25 मई को एक श्वेत पुलिस अधिकारी डेरेक चौविन ने अपनी क्रुरता से अफ्रीकी मूल के अश्वेत नागरिक 46 वर्षीय जॉर्ज फ्लॉयड की जान ले ली है जो मानवता के खिलाफ है, पुलिस अधिकारी ने जो फ्लायड के साथ क्रुर व्यवहार किया वो खतरनाक था और उसके मन में मानव जीवन के लिए कोई परवाह नहीं थी, वहां एक काले नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस के हाथों हुई मौत का हम भारतीय मुखालफत करते हैं।

साथ ही ऐसी घटनाओं को दोहराया न जाए इसके लिए ठोस कार्रवाई की मांग करता हुं, निहत्थे अश्वेत (काले) व्यक्ति जार्ज फ्लायड सांस लेने के लिए छटपटाता रहा लेकिन श्वेत (गोरे) पुलिस अधिकारी ने उसके घुटनों को नाक पर जोर से दबा दिया जिससे उसकी मौत हो गई। फ्लायड बार बार अपनी जिंदगी की भीख मांग रहा था, आसपास खड़े लोग भी उन्हें छोड़ने की मिन्नतें कर रहे थे लेकिन इसका असर श्वेत पुलिस अधिकारी पर नहीं पड़ा, हम उन सभी लोगों के साथ खड़े हैं जो ऐसे लोगों की न्याय के लिये प्रयासरत और संघर्षरत हैं, अश्वेत समुदाय और जार्ज फ्लायड की इंसाफ के लिए एकजुटता जताते हैं, नस्लीय समानता के लिए संवैधानिक लड़ाई में अपना समर्थन देते हैं, साथ ही मै उनसे कहना चाहते हैं कि वे अकेले नहीं हैं।

इस लड़ाई में भारत में जो भी नस्लीय समानता के पक्षधर हैं वे उनके संघर्ष में साथ हैं, उन्होंने कहा कि भारत में भी नस्लवाद सांम्प्रदायवाद का भेदभाव तथा एक दूसरे के प्रति नफरत है, जो स्वस्थ्य लोकतंत्र के लिए सही नहीं है, यहां भी नस्लीय टिप्पणियां की जाती है, इसका शिकार कुछ लोगों को होना पड़ा है, नस्लीय एवं सांम्प्रदायिक भेदभाव या नफरत के मामलों को गंभीरता से लिया जाय, और उसपर तुरंत कार्रवाई हो। दुनियां में सभी का समान दर्जा मिलने चाहिए, नस्लवाद सांम्प्रदायवाद कोविड-19 से बड़ा विषाणु है। इस नस्लीय भेदभाव व सांम्प्रदायवाद की जहर को अविलंब रोका जाना चाहिए।

22 total views, 1 views today

नावा बाजार। लातेहार। मोदी सरकार की आत्मनिर्भर का नारा छलावा : अयुब खान

> झारखंड राज्य किसान सभा ने मनरेगा कार्य स्थल पर विरोध प्रदर्शन किया सभा की।

नावा बाजार। लातेहार। अखिल भारतीय खेत मजदूर यूनियन के देशब्यापी कार्यक्रम के तहत युनियन के समर्थन में झारखंड राज्य किसान सभा ने लॉकडाउन सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए कामता पंचायत मे चल रहे मनरेगा के कार्य स्थल पर प्रदर्शन किया सभा की, यह आंदोलन खेत मजदूरों, गरीब जनता और प्रवासी मजदूरों की मांगों को लेकर आयोजित हुआ,
झारखंड राज्य किसान सभा के लातेहार जिला अध्यक्ष अयुब खान ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र की भाजपा नेतृत्व वाली नरेंद्र मोदी सरकार का आत्मनिर्भर का नारा लोगों को भ्रमित करने वाला है, जनता को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मोदी सरकार ने जो पैकेज की घोषणा की है उसका फायदा किसानों श्रमिकों दुकानदारों और आम जनता को नहीं मिल रहा है, सरकार जब रोजगार नहीं दे पाती है तो नौजवानों से कहते हैं कि रोजगार मांगने वाला नहीं रोजगार देने वाला बनो, इसी तरह स्टार्टअप का शुरूआत किया, स्टार्टअप, सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और मेक इन इण्डिया का नारे का किया हस्र हुआ सभी जानते हैं, ऐसा ही हस्र आत्मनिर्भर के नारे का होने वाला है, सरकार जब विफल हो जाती है तो अपनी विफलताओं को छुपाने के लिए हमेशा नए नए नारे गढती रही है, देश भर में कोविड-19 का रोकथाम में विफल होने, प्रवासी श्रमिकों की घर वापसी कराने मे नाकाम रहने, बढ़ती बेरोजगारी और गिरती अर्थव्यवस्था की नाकामी छुपाने के लिए अब मोदी सरकार ने एक नया नारा आत्मनिर्भर का दिया है, यह नारा भी छलावा साबित होगा, प्रदर्शन के माध्यम से आयकर के दायरे में न आने वाले सभी परिवारों को तीन महीनो के लिए 7500 रुपये देने, सभी प्रवासी मजदूरों को विशेष सहायता करने, दुर्घटनाओं या भूख के कारण घायल हुए या मारे गए और आत्महत्या करने वाले प्रवासी मजदूरों के परिवारों को मुआवजा, मनरेगा के तहत प्रत्येक परिवार को न्यूनतम 200 दिनों का काम इस काम की 600 रुपये या राज्य में घोषित न्यूनतम मजदूरी (जो अधिक हो) दिए जाने,मनरेगा के लिए अतिरिक्त एक लाख करोड़ रुपये आबंटन करने, राशन कार्डों अनिवार्यता के बिना सभी परिवारों को 6 महीने के लिए 10 किलोग्राम चावल / गेहूं और अन्य आवश्यक वस्तुओं को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से मुफ्त में उपलब्ध करवाने, सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली को मजबूत करते हुए देश के सभी ( विशेषतौर पर ग्रामीण ) नागरिकों की स्वास्थ्य जांच की उचित व्यवस्था, श्रम कानूनों को कमजोर करने के सभी कदमों पर रोक, सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों के विनिवेश और विभिन्न क्षेत्रों में एफडीआई के निवेश को तत्काल प्रभाव से रोके जाने, किसान विराधी मॉडल कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग एक्ट, 2018, मॉडल टेनेंसी एक्ट या एग्रीकल्चर लैंड लीजिंग एक्ट लागू करने के सभी प्रयासों पर रोक लगाने, कॉरपोरेट्स द्वारा छीनी जा रही किसानो की भूमि को बचाया जाए और भूमिहीनों और खेत मजदूरों में सरकारी भूमि वितरित किए जाने की मांग की गई है, प्रदर्शन मे सनिका मुंडा, बुधराम बारला, एतवा मुंडा शामिल थे।

27 total views, no views today

बंशीधर नगर | मुमताज राही की ओर से ईद की शुभकामनाएं।

विडियो देखें

44 total views, no views today

नावा बाजार।लातेहार। चंदवा। निजीकरण श्रम कानूनों में बदलाव के खिलाफ प्रर्दशन

> केंद्र की भाजपा सरकार का नीतियां जनविरोधी।

> केंद्र की भाजपा सरकार के जनविरोधी नीतियों के खिलाफ माकपा व झाराकिस का प्रर्दशन।

नावा बाजार। लातेहार। चंदवा। माकपा व झारखंड राज्य किसान सभा ने संयुक्त रूप से अलौदिया में लॉकडाउन सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए सार्वजनिक उपक्रम एयरपोर्ट, कोयला खदान, बिजली का निजीकरण बंद करो, श्रम कानूनों में श्रमिक विरोधी संशोधन वापस लो से संबंधित पोस्टर लिए केंद्र की भाजपा सरकार के जनविरोधी नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन किया, ललन राम के नेतृत्व में हुए प्रर्दशन में माकपा के जिला सचिव सुरेन्द्र सिंह, झारखंड राज्य किसान सभा जिला अध्यक्ष अयुब खान और विभूति ने कहा केंद्र कि भाजपा नेतृत्व वाली नरेंद्र मोदी सरकार अडानी,अंबानी सहित देश के पुंजिपती घरानों के हित में राष्ट्रीय संसाधनों और सार्वजनिक उपक्रमों एयरपोर्ट, कोयला खदान, बिजली का निजीकरण करने कि ओर अग्रसर है, कोरोना के आड़ में केन्द्र सरकार द्वारा इस तरह के कठोर फैसले तब लिए जा रहे हैं जब पुरा देश पुरी दुनिया कोविड -19 की महामारी का सामना कर रहा है, आर्थिक पैकेज से लोगों को सीधा राहत तो नहीं मिलेगी लेकिन इससे उन्हें कर्ज की ओर धकेल दिया जाएगा, मध्यम वर्गों की सहायता के लिए सरकार ने इस पैकेज में कोई प्रावधान नहीं किया है, वहीं दूसरी तरफ दमनकारी बेरहम श्रम कानून लाए जाने की कोशिश हो रही है, राज्य सरकारें ऐसा प्रयास कर श्रमिक वर्ग को गुलाम बनाने की साजिशें रच रही हैं, सबसे चिंतनीय मामले गुजरात, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, उड़ीसा, महाराष्ट्र, बिहार और पंचाब सरकार के हैं जहां लगभग सभी श्रम कानूनों को तीन साल के लिए निलंबित करने की कवायद जारी है, केंद्र सरकार का अनुसरण करते हुए अन्य राज्य सरकारें भी इस दिशा में कदम उठा रही हैं, श्रम कानूनों में बदलाव सरकार का तेजी से निजीकरण की ओर बढ़ने का संकेत है, दैनिक कार्य आठ घंटे से बढ़ाकर बारह घंटे कर दिया गया है, कॉरपोरेट और बिल्डर्स के पक्ष में उतर प्रदेश सरकार ने एक झटके में 38 कानुनों को अप्रभावी बनाने की कोशिश में लगी है, यह मानवाधिकारों के मुल सिद्धांतों के भी खिलाफ है, सार्वजनिक संम्पति को निजी हाथों में हस्तांतरित करने एवं श्रम कानूनों में बदलाव के फैसले का पार्टी कड़ा विरोध करती है, प्रर्दशन में काम के 12 घंटे के प्रस्ताव को वापस लेने, छंटनी, वेतन भुगतान मे कटौती और सेवा शर्तों मे बदलाव को रोकने, सभी प्रवासी मजदूरों का निःशुल्क घर वापसी, जरुरत मंदो को भोजन आश्रय रोजगार और स्वास्थ्य उपलब्ध करने,औद्योगिक तथा सड़क हादसों एवं घर लौटने के दौरान जान गवांने वाले शोक संतप्त परिवारों को प्रर्याप्त मुआवजा देने, अगले तीन महीने तक आयकर नहीं देने वाले सभी परिवारों के बैंक खाते में न्युनयम साढ़े सात हजार प्रतिमाह व किसानों को लोन नहीं उन्हें नगद भेजने आदि कि मांग की गई है।

51 total views, 1 views today

नावा बाजार। लातेहार।चंदवा। झारखंड राज्य किसान सभा ने किसान सम्मान दिवस पर दिया धरना

> कोविड-19 के बीच अनाज सब्जी उगाने वाले अन्नदाता किसानों की भूमिका महत्वपूर्ण : अयुब खान

> कोरोना के खिलाफ लड़ने वाले देश वासियों के लिए अनाज सब्जी उगाने वाले किसानों का सम्मान करना आवश्यक।

> प्रवासी मजदूरों की मद का एक हजार करोड़ रुपए को श्रमिकों को घर पहुंचाने में खर्च करने,

> किसानों प्रवासी मजदूरों दुकानदारों को बैंक का कर्ज नहीं नगद उनके खाते में राशि ट्रांसफर करने सहित कई मांगे उठाई।

नावा बाजार। लातेहार।चंदवा। – अखिल भारतीय किसान संघर्ष समिति एवं झारखंड राज्य किसान समन्वय संघर्ष समिति के देशब्यापी अह्वान पर झारखंड राज्य किसान सभा लातेहार इकाई ने कामता स्थित घर के दरवाजे पर लॉकडाउन सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए राष्ट्रीय तिरंगा झंडा, लाल झंडा, कृषि यंत्र कोड़ी कुदाल के साथ मांगों से संबंधित पोस्टर लेकर किसान सम्मान दिवस पर धरना दिया, खेतों में अनाज सब्जी का उत्पादन कर कोरोना के खिलाफ लड़ाई में साथ देने वाले अन्नदाता किसानों का मान सम्मान बढ़ाया हौसला अफजाई की, इसका नेतृत्व झाराकिसभा के जिला अध्यक्ष अयुब खान कर रहे थे, इसके पूर्व कर्ज के बोझ से दबकर तथा अकाल सुखाड़ में फसल न होने एवं अन्य कारणों से परेशान होकर जान देने वाले किसानों तथा लॉकडाउन के बीच जान गवांने वाले प्रवासी श्रमिकों के प्रति एक मिनट का मौन धारण कर उन्हें श्रद्धांजली दी गई, किसान को सम्मान दो, किसानों की मान दो, प्रवासी मजदूरों की मद का एक हजार करोड़ रुपए को श्रमिकों को घर पहुंचाने में मदद करो, किसानों प्रवासी मजदूरों दुकानदारों को बैंक कर्ज नहीं नगद उनके खाते में राशि ट्रांसफर करो आदि नारे लगाए, अयुब खान ने किसान दिवस पर आयोजित धरना को संबोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान भी अपनी जान की परवाह किए बिना किसान खेती किसानी कर रहे हैं, खेतों से बजारों तक सब्जी पहुंचाने में लगे हुए हैं, खेतों में अनाज सब्जी उगाकर लोगों की पूर्ती कर रहे हैं, संसाधन पैसा और शिचाई के अभाव के बावजूद भी किसान खेतों में जीतोड़ मेहनत कर रहे हैं, इसी का नतीजा है कि इस वैश्विक महामारी के बीच भी हमे अनाज और सब्जी की कमी नहीं हो रही है, किसानों के कारण खाद्यान्न से देश का भंडार भरा पड़ा है, इस आपदा के समय में भी किसान कंधे से कंधा मिलाकर साथ चल रहे हैं, इसी लिए किसान मान और सम्मान के हकदार हैं, आगे कहा कि विकास का रास्ता गांव से होकर निकलता है, किसान खुशहाल होगा तो हमारा समाज भी खुशहाल होगा, किसानों के उत्थान से ही देश का चहुंमुखी विकास होगा, किसानों के कल्याण से जुड़े योजनाओं का लाभ किसानों तक पहुंचाए जाने की जरूरत है, कोरोना दौर में भी किसान फसल अनाज उगाकर अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं, दुसरी तरफ जिस तरीके से लगातार प्रवासी मजदूर सड़कों पर भूखे प्यासे पैदल चल रहे हैं इससे ऐसा लगता है कि केंद्र की भाजपा नेतृत्व वाली नरेंद्र मोदी सरकार को नागरिकों की समस्याओं से कोई लेना देना नहीं है, पैकेज का लाभ फंसे हुए प्रवासी श्रमिकों को नहीं मिल पा रहा है, मजदूरों को घर आने के लिए इतना परेशानी हो रही है कि उन्हें केंद्र सरकार द्वारा घोषित पैकेज जले पर नमक छिड़कने जैसा लग रहा है, अजादी के बाद सड़क पर मजदूरों की ऐसी दुर्दशा पहली बार देखा जा रहा है, उनकी परेशानी देखकर हर कोई का कलेजा पिघल जा रही है, लेकिन केंद्र सरकार पैदल चल रहे श्रमिकों को घर भेजने के मामले में बेपरवाह बनी हुई है, शहर में करीब सत्तर और ग्रामीण क्षेत्र में पचास प्रतिशत लोग रोजगार खो चुके हैं, मध्यम वर्ग भुखमरी के कगार पर है, सरकार को इनकी समस्याएं नहीं दिख रही है, धरना में किसान सम्मान निधि की राशि बढ़ाकर अठारह हजार रुपये वार्शिक करने, प्रवासी मजदूरों की मद का एक हजार करोड़ रुपए को श्रमिकों को घर पहुंचाने में खर्च करने, किसानों प्रवासी मजदूरों दुकानदारों को बैंक का कर्ज नहीं नगद उनके खाते में राशि ट्रांसफर करने, सभी शहरी और ग्रामीण परिवारों को लॉकडाउन के द्वरान हुए रोजी रोटी और आजिवीका के नुकसान की भरपाई के लिए प्रतिमाह दस हजार रूपये की आर्थिक सहायता करने, प्रवासी मजदूर सरकारी सहायता के बिना अपने घरों में पहूंच चुके हैं उन्हें प्रति व्यक्ति पॉच हजार रूपये विषेश प्रवास राहत राशि एवं काम देने, डिजल की किमत में 22 रूपये प्रति लीटर की कमी करने, किसानों तथा आम जनता की सभी प्रकार के बैंकों का कर्ज एवं बिजली बिल माफ करने, किसानों को खेती के संयंत्र, खाद्य बिज मुफ्त उपलब्ध कराने आदि मांगे केंद्र सरकार से कि गई है, मौके पर किसान जीतन गंझु, परवेज खान, फहमीदा बीवी शामिल थे।

55 total views, no views today

नावा बाजार। लातेहार।प्रधानमंत्री का 20 लाख करोड़ रुपए की आर्थिक पैकेज से प्रवासी मजदूरों गरीबों को राहत नहीं मिलेगी : अयुब खान

> ऐसे ऐलान मोदी सरकार हमेशा करती रही है।

> सरकार लॉकडाउन के पहले प्रवासी श्रमिकों गरीबों की आने वाली समस्याओं को महसूस नहीं किया, वैसे ही पैकेज में भी इन्हें भुल गई।

> भूखा आम जनता को भोजन परोसने की जगह सरकार उन्हें आसमान के तारे दिखा रही है।

नावा बाजार। लातेहार। कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) (माकपा) की लातेहार के पूर्व जिला सचिव अयुब खान ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा आत्मनिर्भर भारत अभियान के लिए 20 लाख करोड़ रुपए के विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा की गई है, दुर्भाग्य है कि मजदुर किसान की बात कर सत्ता में काबिज होने वाले केंद्र की भाजपा सरकार ने लॉकडाउन लगाने के पहले जिस तरीके से प्रवासी मजदूरों किसानों गरीबों छोटे दुकानदारों ठेले रिक्शा चालकों के साथ आने वाले समस्याओं को महसूस नहीं किया ठीक उसी तरह पैकेज की घोषणा करने समय सरकार ने प्रवासी मजदूरों की घर वापसी कराने, इनके साथ गरीब असहायों को तत्काल आर्थिक मदद पहुंचाने का प्रावधान इस पैकेज में करने के लिए सरकार भुल गई, प्रधानमंत्री की घोषित 20 लाख करोड़ रुपए की आर्थिक पैकेज से प्रवासी मजदूरों गरीबों को राहत नहीं मिलेगी, यदि इस पैकेज से अब भी प्रवासी मजदूरों को मदद पहुंचाया जाता तो मजदूरों की दुर्दशा जरूर कम होती, लॉकडाउन का सबसे ज्यादा निसाना बनने वाले प्रवासी मजदूरों, असहाय गरीबों, मध्यम वर्गों, छोटे छोटे व्यवसाय वर्ग दुकानदारों, ठेले रिक्शा चालकों को इस आर्थिक पैकेज से फौरी तौर कोई राहत मिलने वाला नहीं है, उन्होंने सवाल किया कि देश के निर्माण मे सबसे बड़ा योगदान देने वाले मजदूर जो इस समय घर आने के लिए सड़क पर भूखा प्यासा बीवी बच्चों के साथ पैदल जद्दोजहद कर रहे हैं अपमानित हो रहे हैैं उन्हें किया इस पैकेज से घर पहुंचाया जा रहा है, मध्मय वर्ग जो इस समय जिवन यापन के लिए जूझ रहे हैं उनके खाते में यह पैकेज का पैसा ट्रांसफर हो रहा है, इस समय लोग रोजगार और भुखमरी की संकट से जूझ रहे हैं क्या इन्हें इस पैकेज से सहायता मिल रही है, खाद्यान्न के साथ दाल आलु तेल नमक पॉष्टिक अहार देने की शुरुआत इस पैकेज के राषी से हो गई है, घर वापसी के लिए गुहार लगा रहे मजदूरों को पैकेज का लाभ मिल रहा है, उनके खाने पीने की समस्या का समाधान इस पैकेज से किया जा रहा है, महाराष्ट्र के औरंगाबाद में रेल मालगाड़ी के हादसे में जान गवाने वाले 16 मजदूरों तथा गैस रिसाव में तथा घर वापसी के क्रम में भुख से एवं सड़क हादसे में अबतक जितने प्रवासी मजदूरों की मौत हो चुकी है उनके परिजनों को इस पैकेज से मुआवजा दिया जा रहा है, आज भी प्रवासी मजदूरों की समस्या जस की तस खड़ी है, ऐसे ऐलान मोदी सरकार हमेशा करती रही है, इसपर मजदूरों को भी भरोसा नहीं है, प्रवासी मजदूरों को घर भेजने, भूखा आम जनता को भोजन परोसने की जगह सरकार उन्हें आसमान के तारे दिखा रही है।

54 total views, no views today

नावा बाजार। चंदवा। लातेहार । 5 साल की साहिबा व आलिया ने रोजा रख दुआ

नावा बाजार। लातेहर।चंदवा। रमजान के मुकद्दस माह पर दो छोटी बहनें इबादत की राह पर चल पड़ी हैं, ये दोनों बहनें प्रखंड के अलौदिया पंचायत कि शुक्रबजार के निवासी हैं, जिनके उम्र खिलौना खेलने कुदने की है वे रोजा इबादत कर रहे हैं,
समीर राईन की 5 वर्षीय नन्ही बेटी साहिबा प्रवीन एवं कमरूदीन राईन की 5 साल की पुत्री आलिया प्रवीन प्रत्येक दिन अहले सुबह साढ़े तीन बजे सहरी करती हैं और 15 घंटे का रोजा रखती हैं, मां गुड़िया बीवी ने बताया कि बेटी आलिया पांच टाइम नमाज पढकर खुदा को याद करती हैं, वहीं तमन्ना बीवी कहती हैं कि मेरी पुत्री शाहिबा प्रवीन रोज समय पर उठकर सहरी करती हैं, दोनों बच्चियां काफी एहतराम के साथ पॉच वक्त की नमाज भी पढती हैं, शाम को इफ्तार के समय परिवार के साथ इफ्तारी करती हैं, मॉ बाप ने बताया कि छोटी बच्चियों की सेहत, उपर से गर्मी, 15 घंटे से अधिक समय तक भूखा प्यासा रहना इन सभी बातों का ध्यान रखते हुए इन्हें रोजा रखने से मना की गई थी, लेकिन बच्चीयों ने अल्लाह रसुल का वास्ता देकर रोजा रख लिया, इनके जिद के आगे किसी का नहीं चली, मॉ बाप भी मजबूर हो गए, उसके पक्के इरादों को कोई डिगा नहीं सका, वो शुरू से ही रोजा रख रही हैं, इफ्तार के समय अपना और देश की सुख शांति के लिए दुआ करती हैं, रमजान उल मुबारक के पाक महिने में कई बड़े और युवा रोजा नहीं रख पाते हैं, ऐसे में इन बच्चियों का रोजा रखा जाना इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है, मासुम बेटियों ने रोजा रखकर यह समाज को संदेश भी दिया कि इरादा पक्का हो तो नेक और सच्चाई की राह में चलना मुश्किल नहीं है, बच्चियों का उत्साह को देखकर घर वाले भी काफी खुश हैं, इलाके के लोग इन रोजेदार बच्चियों को बधाई मुबारकबाद दे रहे हैं इनके उज्जवल भविष्य के लिए कामना और दुआ कर रहे हैं।

52 total views, no views today

बिग ब्रेकिंग | लेस्लीगंज | पलामू | पलामू के लेस्लीगंज में तीन कोरोना पॉजिटिव

शांतनु अग्रहरि डीसी

लेस्लीगंज | पलामू | गढ़वा में कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद अब पलामू जिला में भी कोरोना दे दस्तक दे दी है। पलामु जिला के लेस्लीगंज के जुरू पंचायत के तीन लोगों के कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आये हैं। इस बात की पुष्टि पलामु डीसी शांतनु अग्रहरि ने की है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार तीनो विगत एक सप्ताह पूर्व रांची से लौटकर अपने गांव आये थे। तब से वे गांव में बने कवरेण्टाईन सेंटर में रखे गए थे। उनका जांच सैंपल रांची भेजा गया था। र्जहां टेस्ट रिजल्ट पॉजिटिव पाया गया।

जिले में तीन तीन कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद प्रशासन काफी सक्रिय हो गई है। डीसी और एसपी खुद मामले पर पूरी नज़र रखे हुए हैं। संक्रमित मरीजों के निवास स्थान के आसपास के इलाकों को सील किया जा रहा है।

प्रशासन ने लोगों से अपील की है कि लोग सामाजिक दूरी बनाए रखें। लॉक डाउन का पालन करें। ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

770 total views, 1 views today

नावा बाजार।लातेहार। इफ्तार सहरी एवं रमजान की सामग्री को लेकर CPIM नेता अयुब खान ने बीडीओ सीओ से मुलाकात किये

> उपायुक्त लातेहार के पदनाम ज्ञापन उन्हें सौंपा।

नावा बाजार। लातेहार।भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) (माकपा) के पूर्व जिला सचिव अयुब खान ने कार्यालय में प्रखंड विकास पदाधिकारी अरविंद कुमार व अंचलाधिकारी मुमताज अंसारी से मुलाकात कर जिले के कोबिड – 19 के सभी क्वारंटाईन मे इफ्तार सहरी व रमजान की सामग्री को लेकर बात की, उपायुक्त के नाम उन्हें ज्ञापन सौंपा, अपने सौंपे गए पत्र में कहा है कि रमजान का मूकद्दश महिना संभवतः 25 अप्रैल से शुरू हो जाएगा, इसके शिर्फ दो दिन बचे हुए हैं, जिले के क्वारंटाईन केन्द्रों में इस समय कई मुसलमान भी क्वारंटीन में है, वे क्वारंटाईन केन्द्र में ही रोजा रखेंगे, ऐसे में ईन रोजेदारों कि शेहरी और इफ्तार का सामान केन्द्र में ही व्यवस्था किए जाने की जरूरत है, लॉकडाउन के कारण अभी तक बजार में रमजान में उपयोग होने वाली सामान जयनमाज, टोपी, इतर, खजुर,‌ सेवंई, सुरमा, और तसवीह उपलब्ध नहीं है, इसकी आवश्यकता रोजेदारों को होती है, अयुब खान ने सभी प्रखंडों के क्वारंटाईन केन्द्रों में रोजेदारों के लिए रोजा इफ्तार शाम 6 बजे और सहरी के लिए रात्री तीन बजे खाने पीने की व्यवस्था किए जाएं तथा रमजान में उपयोग होने वाले सामग्री को उपलब्ध करवाने के लिए प्रबंध कराने की मांग उपायुक्त से की है, उन्होंने आगे कहा कि क्वारंटाईन केन्द्रों में रोजेदारों को सहरी इफ्तार की सही समय की जानकारी देने के लिए भी उपाय किए जाने चाहिए ताकि वे समय पर रोजा सहरी कर सकें, रमजान कि समानों की होम डिलीवरी करवाए जाने से मुस्लिम समुदायों को काफी सहुलयतें होगी, जो भी समुदाय के लोग क्वारंटाईन में हैं जिनकी रिपोर्ट नगेटिव आई है उसके बाद भी उन्हें रखा गया है ऐसे लोगों को होम क्वारंटाइन में रहने की सपथ दिलाकर उन्हें छोड़ देना चाहिए, उन्होंने राज्य सरकार और जिला प्रशासन से रोजेदारों का ख्याल रखे जाने की अनुरोध किया है।

71 total views, no views today

नावा बाजार।लातेहार।भूख हड़ताल पर 21 को बैठेंगे झारखंड राज्य किसान सभा लातेहार जिला अध्यक्ष अयुब खान

नावा बाजार। लातेहार। झारखंड राज्य किसान सभा के लातेहार जिला अध्यक्ष अयुब खान आगामी 21 अप्रैल को लॉकडाउन के कारण चंदवा प्रखंड के ग्राम कामता स्थित अपने घर में बैठेंगे भुख हड़ताल पर, उन्होंने इस आशय की जानकारी एक प्रेस ब्यान जारी कर दिया है, बताया कि लॉकडाउन के कारण विभिन्न राज्यों में प्रवासी मजदूर परेशानी झेल रहे हैं उन्हें अविलम्ब सहायता दिलवाने, दैनिक मजदुरों और असहाय परिवारों को खाद्यान्न सामग्री उपलब्ध कराने, आयकर सीमा के बाहर रहने वाले परिवारों को आर्थिक मदद करवाने, कोविड-19 से लड़ रहे डॉक्टरों, फ्रंट लाइन मेडिकल हेल्थ कर्मियों को पर्याप्त सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराने ,सफाई कर्मचारियों ,स्कीम वर्करों को भी प्रधान मंत्री द्वारा घोषित पचास लाख रुपये बीमा योजना के दायरे में लाने, किसानो को खेती के लागत का ढाई गुना मूल्य भुगतान करने, रिक्शा , ठेला , ऑटो चालकों ,समेत सभी परिवहन कामगारों, निर्माण श्रमिकों ,पत्थर खदान और क्रेशर के मजदूरों , और प्रतिष्ठान में काम करने वालो ,एप आधारित डिलीवरी बॉय जो लॉकडाउन के चलते अपनी रोजी रोटी से हाथ धो बैठे हैं, उन्हें और उनके परिवार के लिए निःशुल्क राशन किट जिसमें तीन माह का राशन हो उपलब्ध कराने , सभी घरों को सैनीटाईज करने और स्क्रीनिंग के बाद सभी चिन्हित व्यक्तियों का कोरोना टेस्ट कराये जाने सहित अन्य मांगो को लेकर अॉल इंडिया किसान सभा के देशव्यापी विरोध दिवस के तहत झारखंड राज्य किसान सभा के अह्वान पर भुखहड़ताल किया जाएगा।

73 total views, 1 views today

नावा बाजार। लातेहर।चंदवा।माकपा ने संविधान निर्माता भारत रत्न डॉ0 भीमराव अंबेडकर की जयंती सादगीपूर्ण मनाई

> बाबा साहेब के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें
याद किया।

> संविधान की रक्षा, वंचितों की मदद करने का शपथ लिया।

नावा बाजार।लातेहार।चंदवा – वामदलों के अह्वान पर भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) (माकपा) के पूर्व जिला सचिव अयुब खान ने लॉकडाउन के कारण मंगलवार को ग्राम कामता स्थित अपने आवास पर संविधान निर्माता भारत रत्न डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती सादगीपूर्ण मनाई, बाबा साहेब की चित्र पर माल्यार्पण कर पुष्प अर्पित कर उन्हें याद किया, शपथ ली, उन्होंने कहा कि देश में लॉकडाउन चल रहा है ऐसी परिस्थिति में सार्वजनिक रूप से कोई कार्यक्रम आयोजित किया जाना संभव नहीं था, साथ ही उनकी प्रतिमा पर सामुहिक रुप से माल्यार्पण भी नही हो सकता है इस लिए घर में ही बाबा साहेब की जयंती मनाई शपथ लिया, इस अवसर पर अयुब खान ने संविधान की रक्षा करने का शपथ लिया,
लॉकडाउन से प्रभावित उन सभी गरीबों, श्रमिकों और जरुरतमंदों, असहायों को अनाज उपलब्ध कराए जाने का प्रयास करने कि संकल्प लिया,
छूआ – छूत, भेद भाव, ऊंच निच के विरूद्ध अवाज उठाने,, सामाजिक एकता की भावना को और मजबूत करने का संकल्प लिया, स्वतंत्रता, जीवन तथा लोकतांत्रिक अधिकारों व अभिव्यक्ति की आजादी को रोके जाने के विरुद्ध संघर्ष का शपथ लिया, शपथ हम संविधान निर्माता डा. अंबेडकर के उस लक्ष्य को हासिल करने के लिए ले रहें हैं जिसमें उन्होंने जनता से शिक्षित बनकर और संगठित होकर अंधकार, अंधविश्वास और गलत पूर्वाग्रहों के खिलाफ संघर्ष का आह्वान किया था, लॉकडाउन की इस जटिल परिस्थिति में जिन्होंने अपनी जीविका खोयी है और जिन्दा रहने की जद्दोजहद कर रहे हैं उन जरुरतमंदों की हम अंतिम सांस तक हर संभव मदद करने के लिए शपथ लिया।

74 total views, no views today

नावा बाजार।लातेहार।चंदवा।CPIM नेता अयुब खान ने सीएचसी का जाना हाल, मरीजों से की मुलाकात

> ग्लब्स से जुझ रही है चंदवा सरकारी अस्पताल

नावा बाजार। लातेहार। चंदवा – भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) (माकपा) के पूर्व जिला सचिव अयुब खान ने शुक्रवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर, मरीजों से मुलाकात की, उनका हाल जाना, कहा कि एक ओर जहां कोरोना के कहर से आमजन त्रस्त है, वहीं सावधानी, सुरक्षा और सतर्कता के लिए सीएचसी में ग्लब्स नहीं है, अस्पतालों के डॉक्टरों अस्पताल कर्मीयों को धर्ती का भगवान कहा जाता है, लेकिन संक्रमण से बचाव के लिए इनके पास ग्लब्स का अभाव है, अस्पताल ग्लब्स की कमी से जूझ रही है, दो दिनों से अस्पताल में नए ग्लब्स नहीं है, ग्लब्स की मांग स्वास्थ्य विभाग लातेहार से की गई है लेकिन अबतक अस्पताल को ग्लव्स उपलब्ध नहीं कराया गया है, यहां प्रत्येक दिन 50 सेट से अधिक ग्लब्स की खपत है, प्रति दिन ग्लब्स बदलना है, ग्लब्स नहीं रहने के कारण अस्पताल कर्मी जैसे तैसे काम चला रहे हैं, इसके बाद भी डॉक्टर और अस्पताल कर्मी पुरी शिद्दत और एहतियात के साथ मरीजो को ईलाज कराने तथा कोरोना के संदिग्ध व्यक्तियों की चेकअप करने में जुटे हुए हैं,
अयुब खान ने स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों से कोरोना से बचाव के लिए तमाम स्वास्थ्य केंद्रों में ग्लव्स व आवश्यक प्रयोग में आने वाली वस्तुओं को उपलब्ध कराए जाने की मांग की है ताकि संक्रमण के से भय मुक्त होकर अस्पताल कर्मी काम कर सकें।

66 total views, no views today

नावा बाजार।लातेहार।चंदवा CPIM ने ब्लीचिंग पाउडर का वितरण किया

>> कोरोना वायरस से एहतियातन और संक्रमण से बचाव के लिए माकपा ने ब्लीचिंग पाउडर का वितरण किया ‌: अयुब खान‌

>> 40 किलो ब्लीचिंग पाउडर दो सौ परिवारों के बीच वितरित की गई

नावा बाजार।लातेहार।चंदवा। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) (माकपा) ने स्वास्थ्य विभाग की ओर से हो रहे देरी को देखते हुए गुरूवार को कामता और अलौदिया के पंचायत भवन में बने क्वारंटाइन में पोछा और छिड़काव के लिए ब्लीचिंग पाउडर मुखिया सोमरमनी, बालकिशोर लोहरा को उपलब्ध कराया, कोरोना वायरस से एहतियातन और संक्रमण से बचाव के लिए कामता, अलौदिया पंचायत सचिवालय, कामता पंचायत सचिवालय परिसर में तथा शुक्रबजार में 40 किलो ब्लीचिंग करीब दो सौ परिवारों के बीच वितरण किया गया,
पार्टी के वरिष्ठ नेता अयुब खान, जिला सचिव सुरेन्द्र सिंह, अंचल सचिव रसीद मियां ने लोगों को इसके फायदे और छिड़काव के तरीके बताए, कहा कि इस समय पुरी दुनिया में वैश्विक कोरोना वायरस (कोबीड 19) कहर बरपा रही है, भारत भी इसके चपेट में हैं, इस वायरस से यहां भी मौतें हो रही हैं और कई संक्रमित हो रहे हैं, संक्रमण से बचने के लिए एहतियातन मास्क लगा रहे हैं, साबुन से हांथ धो रहे हैं, साफ सफाई कर रह रहे हैं, ऐसे में ब्लीचिंग इस समय और भी कारगर है, इसके छिड़काव से गांव और घर के आस – पास कीड़े, मख्खी, मच्छर का संक्रमण समाप्त होता हैं, 50 ग्राम पावडर को एक बाल्टी पानी में घोलकर बर्तन और खाने पीने की चिजें तथा कपड़ख को ढक कर फर्श, दिवाल में पोछा, स्प्रे या झाड़ू से छिड़का लगाकर घर को साफ कर संक्रमण से मुक्त रखा जा सकता है, जहां पानी का जमाव है वहां इसका छिड़काव करें इससे संक्रमण रोधी किटानु समाप्त होते हैं, साथ ही साथ लोग कई बिमारीयों से बच सकते हैं,
सार्वजनिक स्थानों एवं भीड़ भाड़ वाले जगहों पर ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव और साफ सफाई भी कई वायरस और संक्रमण से बचाव है, कोरोना वायरस खांसी – छींक आदि के साथ निकली छोटी – छोटी बूंदों और उससे संक्रमित स्थानों चिजों को ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव कर उसे संक्रमण मुक्त कर सकते हैं, कई प्रकार के वायरस संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है,
घर में लगे नल की टोटियां, दरवाजे का हैंडिल में इसका छिड़काव कर उसे संक्रमण से सुरक्षित रखा जा सकता है,
पार्टी ब्लीचिंग पाउडर का वितरण के साथ साथ लोगों को लॉकडाउन का पालन करने, कोरोना वायरस से बचाव के लिए भीड़ भाड़ में जाने से बचने, घर में रहने, सोशल डिस्टेंस का पालन करने को लेकर लोगों को जागरूक किया गया, पार्टी ने गांव से लेकर शहर तक ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव और साफ सफाई का अभियान युद्ध स्तर पर किए जाने पर जोर दिया है ताकि लोगों को और भी सुरक्षित रखा जा सके, मौके पर ग्राम प्रधान पचु गंझु, मुखिया पति नरेश भगत शामिल थे।

66 total views, no views today

नावा बाजार। लातेहार। चंदवा। CPIM नेता अयुब खान ने किया गांवों का भ्रमण

>> माकपा की पहल पर बीडीओ के निर्देशानुसार असहायों को खाद्यान्न उपलब्ध कराया गया।

नावा बाजार।लातेहार।चंदवा। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) (माकपा) के पहल पर बीडीओ के निर्देशानुसार कामता पंचायत के कई असहायों के बीच बुधवार को नि: शुल्क खाद्यान का वितरण किया गया,
मंगलवार को पार्टी के नेता अयुब खान, पूर्व पंचायत समिति सदस्य फहमीदा बीवी ने चटुआग, हिसरी और चिरोखाड़ का भ्रमण कर वैसे परिवारों जिनके पास राशन कार्ड नहीं है और वो स्वयं तथा उनके साथ रहनेवाला कोई भी पारिवारिक सदस्य जीविकोपार्जन करने में इस समय लॉकडाउन के कारण असमर्थ हैं, प्रति दिन मजदुरी कर पेट पालने वाले हैं जिनके घर में अनाज की कमी हो गई है वैसे लोगों से मुलाकात कर वस्तुस्थिति से प्रखंड विकास पदाधिकारी अरविंद कुमार को अवगत कराया था, इसके बाद बीडीओ के निर्देश पर डीलर शाहीद खान व कामता लैम्पस प्रबंधक संतोष कुमार प्रसाद ने पंचायत सेवक मुकेश कुमार भगत, मुखिया पति नरेश भगत की उपस्थिति में दैनिक मजदूर व असहाय मंजु देवी, अनिता देवी, बुधराम मुंडा, दिलीप सिंह, रूकेजा बीवी, तारा देवी, खुशबू देवी, शबनम देवी, अनीता देवी , जतरी देवी व अन्य है को बुधवार को खाद्यान्न उपलब्ध कराया गया।

62 total views, no views today

नावा बाजार । चंदवा । लातेहार । जनप्रतिनिधियों ने क्वारंटाईन केंद्रों का जाना हाल

नावा बाजार।लातेहार। चंदवा। क्वारंटाईन केंद्रो का राजनीतिक दलों तथा जन प्रतिनिधियों झामुमो के जिला प्रवक्ता दीपू कुमार सिन्हा, उप प्रमुख फिरोज अहमद, माकपा नेता सह सामाजिक कार्यकर्ता अयुब खान, कॉग्रेस के बाबर खान, सामाजिक कार्यकर्ता मो0 आरिफ, सुरेश कुमार उरांव ने लिया जायजा, सबसे पहले क्वारंटाईन केंद्र लोहरसी स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। यहां पांच बेड की व्यवस्था की गई है। इसे बढाए जाने की जरूरत है, बिजली और शौचालय की सुविधा भी दूरुस्त किए जाएं, क्वारंटाईन केंद्र कस्तुरबा गांधी आवासीय विद्यालय का भी हाल जाना, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की वस्तुस्थिति की जानकारी ली। यहां महिलाओं को क्वारंटाईन मे रखने के लिए अलग से अबतक कोई व्यवस्था नहीं किया गया है। सीएचसी प्रभारी निर्मला शांति लकड़ा से इस संबंध में बात करने पर कहा कि लोहरसी में पॉच ही बेड उपलब्ध कराने का निर्देश जिला से मिला था। जन प्रतिनिधियों ने लोहरसी क्वारंटाईन केंद्र में बेड बढाने। शौचालय बिजली व्यवस्था दुरुस्त कराने, सीएचसी में महिलाओं को क्वारंटाईन में रखने के लिए अलग से केंद्र की व्यवस्था कराने, दुसरे प्रदेशों से आ रहे। मजदुरो तथा स्थानिय लोगों की जांच के लिए अलग अलग व्यवस्था कराने की मांग प्रखंड विकास पदाधिकारी अरविंद कुमार व उपायुक्त जिशान कमर से की है।

59 total views, no views today

नावा बाजार । लातेहार । कोरोना वायरस से बचाव के लिए CPIM का चला जागरूकता अभियान, सरकार के समक्ष मांगे रखी

> कोरोना से बचाव स्वंय करें और लोगों को बचाने के लिए करें जागरूक : अयुब खान

> बचाव के लिए लोगों को जागरूक किया जाना जरूरी

नावा बाजार। लातेहार। चंदवा कोरोना वायरस से बचाव के लिए तथा लोगों को राहत दिलाने को लेकर 22 मार्च को जन एकजुटता दिवस मनाने के माकपा राज्य कमिटि के अह्वान पर पार्टी ने कामता गांव में जागरूकता अभियान चलाकर लोगों को जागरूक किया, सरकार के समक्ष मांगे रखी, अभियान का नेतृत्व कर रहे CPIM (माकपा) के पूर्व जिला सचिव अयुब खान ने कहा है कि कोरोना वायरस से डरें नहीं इससे मिल कर लड़ना है, अच्छे तरीके से हाथों की धुलाई साबुन से करना इस वायरस से बचाव का यह बेहतर उपाय है, भीड़ से दूर रहें अन्य प्रदेशों से घर लौटने वाले व्यक्ति हॉस्पिटल पर जाकर जांच कराएं, सर्दी, सुखी खांसी, बुखार होने, गला और शरीर में दर्द रहने, और सांस लेने में तकलीफ होने आदि के लक्षण प्रतित होने पर तुरंत हॉस्पिटल में जाकर उपचार कराएं, सुरक्षा और सतर्कता ही कोरोना वायरस से मुक्ति दिला सकती है, इस वायरस से बचाव के लिए साफ – सफाई जहां महत्वपूर्ण है वहीं अपनी सफाई के साथ आम लोगों को इसके लिए जागरूक करना हम सब की जिम्मेदारी ही नहीं बल्कि मानवीय जवाबदेही भी है, मानव जीवन को बचाना हम सबका कर्तव्य है, आगे उन्होंने कहा कि जनता के व्यापक हिस्से को कवर करने के लिए जांच केंद्रों (टेस्ट लैब) की संख्या में भारी बढ़ोतरी की जाय विशेष रूप से उन लोगों के लिए जिनमें सर्दी बुखार खांसी के लक्षण ज्यादा हों, पर्याप्त निशुल्क परीक्षण अस्पताल की सुविधा आइसोलेशन वॉर्ड और वेंटिलेटर की सुविधा के साथ सार्वजनिक स्वास्थ्य व्यवस्था को प्रभावी बनाने के खर्च मे वढोतरी की घोषणा की जाय, कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का इलाज प्राइवेट अस्पतालों में भी फ्री में किया जाय इसके लिए आदेश जारी किया जाय,सभी गरीबों, श्रमिकों और बीपीएल धारियों के खाते में तत्काल 5000 रुपए ट्रांन्सफर किए जायें केंद्रीय सरकार इसके लिए राज्य सरकारों को धन उपलब्ध कराए,
सभी एपीएल /बीपीएल परिवारों को पीडीएस के माध्यम से दो माह के लिए मुफ्त राशन उपलब्ध कराया जाय साथ ही प्रवासी मजदूरों को भी यह सुविधा दी जाय, इसके लिये भारतीय खाद्य निगम के गोदामों में मौजूद 7.5 करोड़ टन जमा अनाज का उपयोग किया जाय, मनरेगा का विस्तार कर साल में 150 दिन का काम दिया जाना सुनिश्चत किया जाय और जो भी व्यक्ति काम चाहते हैं उन्हें काम देने की गारंटी की जाय, और मनरेगा में बकाए मजदुरी का भुगतान मजदूरों को किया जाय, सभी आवश्यक वस्तुओं को उपलब्ध कराने के लिए सार्वजनिक वितरण प्रणाली का विस्तार और उसे सशक्त किया जाय, स्कुल और आंगनबाड़ी के बच्चों को भोजन उनके घरों में पहुंचाने की व्यवस्था की जाय या उनके परिवारों को राशन किट उपलबध कराया जाय, औपचारिक और असंगठित क्षेत्र के सभी मजदूरों को जिनका रोजगार समाप्त होता है उन्हें वित्तीय सहायता भत्ता दिए जाय,  जिन मजदूरों – कर्मचारियों को महामारी के चलते काम से दूर रहना है उन्हें बीमारी का अवकाश दिया जाय, खुदरा व्यवसायियों दुकानदारों का एक वर्ष के लिए बैंक कर्ज का वसूली पर रोक लगायी जाय, उपभोक्ताओं के बकाए बिजली बिल वसुली को टाल दिया जाय ताकि लोगों को परेशानी न हो, इस बिमारी से बचाव के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में ब्यापक रूप से प्रचार प्रसार किया जाय,
कोरोना वायरस से बचाव स्वयं करें और इससे बचने के लिए लोगों को जागरूक करने की अपील उन्होंने कि, अभियान में कादीर खान, जीतन गंझु, माड़ू गंझु, जसमुदीन खान, इनुस खान, आलम खान, तनवीर खान, पैंतु गंझु आदि लोग उपस्थित थे .

90 total views, no views today

लातेहार । चंदवा । CRPF ने चंदवा में जरूरतमंद छात्र – छात्राओं के बीच बांटे बैग कलम, कॉपी, पेंसिल

लातेहार।चंदवा। ई0 कंम्पनी के सीआरपीएफ 133 वीं बटालियन द्वारा सिविक एक्शन प्रोग्राम के तहत कामता पंचायत के चटुआग प्राथमिक विद्यालय परिसर में कैंप लगाकर विद्यालयों के करीब 200 छात्र – छात्राओं बीच पठन पाठन कार्य मे उपयोग में आने वाली बैग, कलम, कॉपी, पेंशिल, फुटबॉल का किया वितरण, इस कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों के बीच खेलकूद के लिए फुटबॉल का भी वितरण किया, इस कैंप में परहैया टोला, चिरोखाड़, बेलवाही चटुआग, सहित अन्य गांव के ग्रामीण शामिल थे, इस अवसर पर सीआरपीएफ कमॉडेंट रविशंकर ने कहा कि सीआरपीएफ जनता कि सेवा के लिए ही है, इस कार्यक्रम का मुख्य मकसद जरूरतमंद छात्र छात्राओं के बीच पढाई की सामग्री वितरित कर उन्हें मदद पहुंचाने की है, तथा गरीब बच्चों के बीच पढ़ाई के साथ खेलकूद की सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से यह अभियान चलाया जा रहा है, उन्होंने आगे कहा कि बच्चे कल का भविष्य है, उन्हें शिक्षित करना हम सभी का काम है, बच्चों को शिक्षा से जोड़ने के लिए परिजन समेत सभी को आगे रहना है, शिक्षा से इलाके में विकास के साथ जागरूकता भी आएगी, उन्होंने ने बच्चों से कहा कि आप पढ़ लिखकर मॉ बाप का और गांव का नाम रौशन करें, देश की सेवा करें, अपने भविष्य उज्जवल बनाएं यही हमारी संदेश व शुभकामनाएं हैं, लातेहार CPIM के पुर्व जिला सचिव सह समाजिक कार्यकर्ता अयुब खान ने कहा कि सीआरपीएफ कमॉडेंट ने छात्र छात्राओं के बीच पढ़ाई और खेल कि सामग्री बॉट कर नेक कार्य किया है, जो काफी प्रसंशनीय है, इससे बच्चों को पढ़ने लिखने में सुविधा होगी, समान का वितरण करने के लिए बच्चों तथा ग्रामीणों की ओर से कमॉडेंट का शुक्रिया अदा किया एवं साधुवाद दिया, भाजपा नेता महेंद्र साहु ने सीआरपीएफ की इस पहल की सराहना की, मौके पर पूर्व पंचायत समिति सदस्य फहमीदा बीवी, पूर्व मुखिया रामधनी भगत, मुखिया पति नरेश भगत, शिक्षक इबरार अहमद, बिराजमुनी देवी, बीगन राम, बीनोद राम, अजित कुमार सिंह, तेलंगा बारला, रूपाली सुमन, ग्रामीण महेंद्र गंझु, जगेशर गंझु, लालधारी गंझु, मनोज गंझु, राजेंद्र भगत, फुलो देवी,सकुन देवी, हिरामनी देवी, कबुतरी देवी, करमी देवी, जासो देवी, सीआरपीएफ जवान समेत काफी संख्या में ग्रामीण और विद्यार्थी उपस्थित थे।

99 total views, no views today

रेहला | विश्रामपुर | पलामू | आज विद्युत आपूर्ति रहेगा बंद

विश्रामपुर | पलामू | विश्रामपुर नप मुख्यालय सहित कई गांवों में गुरुवार को विद्युत आपूर्ति बंद रहेगा.इसकी जानकारी विभाग के कनीय अभियंता उदय कुमार ने दी.श्री कुमार ने बताया कि गोदरमा फीडर क्षेत्र में नया बिजली तार-पोल का कार्य चल रहा है.जिसके चलते सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक विद्युत आपूर्ति ठप रहेगा.

107 total views, 3 views today

नावा बाजार । लातेहार । शाहीन बाग धरना में लातेहार CPIM नेता अयुब खान और AIMIM शमशुल खान भी शामिल हुए

नावा बाजार । लातेहार । बुधवार को रांची के हज हाउस स्थित शाहीन बाग में CAA, NPR और NRC के खिलाफ चल रहे धरना में लातेहार के कद्दावर नेता व CPIM के पुर्व जिला सचिव अयुब खान और AIMIM के शमशुल खान ने जोरदार भाषण दिया। लातेहार जिले से भी धरना में लोगों ने शिरकत की। मालूम हो कि रांची के कडरू में हज हाउस के समीप भारी संख्या में महिलाएं CAA, NRC और NPR के विरोध में अनिश्चित कालीन धरना दे रही है। धरना के 17 वां दिन बुधवार को महिलाओं को संबोधित करते हुए CPIM लातेहार के पुर्व जिला सचिव अयुब खान ने कहा कि उक्त काले कानून के खिलाफ पूरे देश में धरना और प्रदर्शन किया जा रहा है, लेकिन सत्ता में बैठे लोगों के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रहा है। उन्होंने रांची की महिलाओं के जाज़्बे को सलाम किया। AIMIM के लातेहार विधानसभा अध्यक्ष शमशुल खान ने कहा कि भाजपा बाबा साहब डॉ भीम राव अंबेडकर के संविधान को हटाकर मनुस्मृति लाना चाहती है। हम हिंदुस्तान के लोग ऐसा कभी नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा हर मुद्दे पर फेल कर चुकी है। लोगों का ध्यान मुख्य मुद्दे पर नहीं जाए इसलिए देश को गृह युद्ध में झोंकने की तैयारी की जा रही है। मौके पर लातेहार से AIMIM के प्रदेश कार्यकारिणी समिति के सदस्य हाजी तौकीर अहमद, अयूब आलम,मो एहसान,तबारक हुसैन, मो आरिफ़, कांग्रेस के असगर खान, बाबर खान,विक्की खान आदि उपस्थित थे।

178 total views, no views today

नावा बाजार | लातेहार | भाजपा की मोदी सरकार जनविरोधी, महंगाई बेरोजगारी आसमान पर : अयुब खान

> देशव्यापी हड़ताल को लेकर माकपा किसान सभा ने किया धरना प्रर्दशन.

नावा बाजार | लातेहार | केन्द्रीय ट्रेड यूनियनों व वामदलों तथा झारखंड राज्य किसान सभा के आह्वान पर देशव्यापी आम हड़ताल को लेकर माकपा एवं झारखंड राज्य किसान सभा ने पेंशनर समाज परिसर चंदवा में संयुक्त रूप से धरना प्रदर्शन किया, अध्यक्षता रसीद मियां ने की, संचालन पंचु गंझु कर रहे थे, माकपा जिला सचिव सुरेंद्र सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार की नीतियों के कारण मजदूरों की रोजी-रोटी खतरे में पड़ गई है, अर्थव्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है, बड़े पैमाने पर रोजगार खत्म हो रहे हैं, वहीं राष्ट्रीय संपत्ति को निजी हाथों में बेचने का प्रयास भाजपा सरकार द्वारा किया जा रहा है, जनता के इस ज्वलंत मुद्दे से ध्यान हटाने के लिए सरकार झुठ और नफरत की राजनीति कर देश की एकता अखंडता को तोड़ने पर तुली हुई है, लोगों मे डर और भय का माहौल है, झारखंड राज्य किसान सभा के लातेहार जिला अध्यक्ष अयुब खान ने कहा की भाजपा सरकार के नीतियों के कारण देश की लाखों पढ़ें लिखे युवा बेराजगारी का दंश झेल रहे हैं. नरेंद्र मोदी सरकार जनविरोधी है, इसके गलत नीतियों के कारण महंगाई बेरोजगारी आसमान पर है, सरकारी सम्पतियों का निजीकरण कर बेचने पर सरकार आमदा है, देश में कमरतोड़ महंगाई व भयानक बेरोजगारी है, किसान कर्ज के बोझ तले दबा हुआ है वे आत्महत्या करने को विवश हैं बावजूद भी किसानों कि कर्ज माफी नहीं हो रही है, सभी के लिए समान वेतन का निर्धारण होना चाहिए, स्थाई बारह मासी कामो के लिए ठेका प्रथा बंद किए जाएं, संविदा, आउट सोर्सिंग कर्मचारी जो नियमित कर्मचारी का कार्य कर रहे हैं उन्हें नियमित सरकार को करना चाहिए, जबतक उन्हें नियमित नहीं किया जाता तबतक नियमित कर्मचारीयों के बराबर वेतन भत्ता दिया जाए, महंगाई चरम पर है इससे उबारने के लिए सरकार की कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है, सार्वजनिक जन वितरण प्रणाली काफी कमजोर है, सभी गरीबों को इसका लाभ नहीं मिल रहा है, श्रम विरोधी कानुन से मजदुरो कर्मचारियों तथा असंगठित मजदूरों किसानों का शोषन किया जा रहा है, स्कीम वर्कर्स आंगनवाड़ी मिड्डे मील आशा रोजगार सेवक ग्रामीण चौंकीदार पार्कों स्मार्कों मे कार्यरत कर्मचारियों को राज्य कर्मचारी घोषित नहीं किए जाने से उन्हें परेशानी हो रही है, छठे वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू नहीं किया जाने तथा प्रदेश में न्यूनतम के लिए समिति का गठन नहीं होने से इसके लाभ से वंचित हैं, वादा अनुसार किसानों के फसल का डेढा दाम नहीं मिल रहा है, वन अधिकार कानुन सख्ती से लागू नहीं किए जाने से वन पट्टा के लिए आदिवासी दलित वंचित हो रहे हैं, कॉरपोरेट पक्षिय नितियों के कारण जल जंगल जमीन खनिज की लूट हो रही है, विकास कार्य ठप हो जाने से श्रमिक पलायन को विवश हैं विस्थापन रोकने के कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं,धरना प्रदर्शन में शोभन उरांव, जसमुदीन खान, राहुल गंझु, अबास मियां, अनिल मुंडा, सनीका मुंडा, बीनोद उरांव, इस्तेखार खान, बड़कु खान, साजीद खान, बैजनाथ ठाकुर, असरफुल खान, रियाजुल खान, अब्दुल अंसारी, तनवीर आलम, सेराज अंसारी, नरेश उरांव, मनु उरांव, अशोक साव, मकुंन गंझु, सुधन गंझु, फहमीदा बीवी, आशा देवी, कसीरन बीवी, अजमेरून बीवी समेत दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित थे।

91 total views, no views today

नावा बाजार | लातेहार | CAA, NPR, NRC के विरोध में बुद्धजीवीयों की बैठक संपन्न

नावा बाजार | लातेहार | माको मोड़ में नागरिकता संशोधन कानुन (सीएए) नागरिक जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) और भारतीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में रविवार को बुद्धजीवीयों की बैठक आयोजित किया गया, इसकी अध्यक्षता फिरोज अहमद ने कि संचालन समशुल होदा कर रहे थे, वक्ताओं ने कहा कि हम सब भारतीयों की आत्मा संविधान है, इसमें सबको बराबरी का अधिकार दिया गया है, भारत का संविधान धर्म आधारित नागरिकता को स्पष्ट शब्दों में ख़ारिज करता है, किसी को नागरिकता देने का हम सभी विरोध नहीं कर रहे हैं, संविधान को आहत कर सीएए को लाया गया है, नागरिकता संशोधन कानुन संविधान के मूल भावनाओं के खिलाफ है,
इस लिए हम इसका विरोध कर रहे हैं, भाजपा सरकार पहले भी संविधान को छेड़छाड़ करने की प्रयास कर चुकी है, एससी एसटी एक्ट में छेड़छाड़ किया गया था, लेकिन जन दबाव के कारण सरकार सफल नहीं हो पाई, संविधान को बचाने के लिए हर स्तर पर संवैधानिक तरीके से हम लोगों को विरोध करने की जरूरत है, दूसरे देशों से प्रताड़ना के कारण भारत आने वाले व्यक्तियों के लिए नागरिकता देने की पहले से ही प्रावधान है, पहले भी नागरिकता दी गई है और आज भी दी जा सकती है, नागरिक जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) में माता पिता के जन्म तिथि और जन्म स्थान के अतिरिक्त अन्य बातों का डिक्लियरेशन जनता से सरकार इस लिए लेना चाहती है कि एनआरसी जब होगा तो इसी एनपीआर को सरकार अधार बनाएगी, एनआरसी का पहला स्टेज ही एनपीआर है, जबकि 2010 – 11 के नागरिक जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) मे माता पिता की जन्म तिथि और जन्म स्थान की जानकारी नहीं मांगी गई थी, आज 70 से 80 प्रतिशत भारतीयों के पास कागज नहीं है, सम्भ्रांत परिवारों के पास तो सारे दस्तावेज मौजूद हैं, गरीब जनता कहां से दस्तावेज़ दिखाएगी, इसके लिए देश की जनता को काफी परेशानी उठानी पड़ेगी, जो दस्तावेज दिखाने में सक्षम नहीं होंगे वे सब संदिग्ध नागरिक करार दिए जाएंगे, जिसके बाद वोट देने के अधिकार सहित देश के सारी सुविधाओं से उन्हें वंचित रहना पड़ सकता है, सीएए एनपीआर को खत्म होने तक तथा एनआरसी लाने की घोषणा वापस लेने तक विरोध जारी रखा जाएगा, बैठक में 18 जनवरी को लातेहार में विशाल जनसभा करने का निर्णय लिया गया, बैठक में एडवोकेट समशुल कमर खान, अयुब खान, जुनेद अनवर, मो0 रिजवान, अफताब आलम, लाडले खान, अजमतुल्लाह अंसारी, कारी मुजीबुर्रहमान, ख्वाजामुद्दीन, समशेर अंसारी, इसराफील अंसारी, जैनुल अंसारी, मुरली प्रसाद गुप्ता, कमेक राम, सुरेश भारती, अजय भारती, मो0 अफरोज, मो0 आरिफ, मो0 जैनुस अंसारी, मो0 ज़ुबैर, अहद खान, मो0 शमीम, खलील अंसारी, एजाज खान, असगर खान, बाबर खान, साबीर अंसारी, मो0 मेराजुल हक, नुर मोहम्मद अंसारी, मो0 मुस्तफा, मो0 नौशाद, मो0 अख्तर हुसैन, मो0 इजहार, मो0 हबीब खान, मो0 सहादत हुसैन, अब्बास अंसारी, कारी हसन, शमसाद अहमद, वसी मियां, मो0 हकीमुद्दीन, अमानुल्लाह अंसारी, मो0 अब्दाल, मो0 हुसैन, जावेद अख्तर, नौशाद खान, मो0 खुर्शीद अंसारी, मो0 इरसाद, मो0 अब्दुल कलाम, मो0 शमीम आलम, असगर अली, मो0 तौहीद आलम, मो0 इरसाद कादरी, अब्दुल मन्नान, रेवाम अंसारी, मो0 हबीब खान, अलीम अंसारी, मो0 मुमताज अंसारी, मो0 हबीबुल्लाह, मो0 शाबीर अली, मो0 इनायत, इसमाईल अंसारी समेत बड़ी संख्या लोग उपस्थित थे।

128 total views, no views today

नावा बाजार | लातेहार | रात भर ठंड से स्टेशन पर ठिठुरता रहा गरीब, हो गई मौत

नावा बाजार | लातेहार | दिनांक 03 जनवरी 2020 की सुबह से स्टेशन के मुख्य द्वार पर एक आदमी की मौत हो गयी।लोगो को माने तो ठंढ से ठिठूर रहा था मृतक, उसके पास ठंड से बचने के लिये कुछ व्यवस्था नही होने के कारण उसकी मौत हो गयी। इस द्वार से कई बार स्टेशन के पदाधिकारीयों का आना जाना हुआ, नजर भी पड़ी होगी, इसके बाद भी रेल प्रबंधक इस गरीब की ओर ध्यान नहीं दिया, रेलवे उदाशीन बना रहा।कोयले की ढ़ुलाई से लाखों रुपए की राजस्व प्राप्त होता है। टोरी जंक्शन को लेकिन कंबल तक नहीं मिला मृतक को। समाजसेवी आयूब खान ने कहा कि रेलवे प्रबंधन ने ठंढ से ठिठुरते गरीब वृद्ध की अनदेखी की। ठंढ से गरीब को बचाने की कोई व्यवस्था नहीं हुई। साथ ही उन्होंने कहा किरेलवे प्रबंधन की उदासीनता से ठंढ से गरीब की जान गई।

> शव की पहचान नहीं हुई है.

दिनांक 04 जनवरी 2020 की सुबह रेल प्रशासन ने शव को बरकाकाना ले गई।
CPIM नेता अयुब खान ने कहा कि रेलवे प्रबंधन की यह उदासीनता दुर्भाग्यपूर्ण है।

152 total views, no views today

बिग ब्रेकिंग । नावा बाजार । चंदवा । लातेहार । कुड़ू पथ में दर्दनाक सड़क हादसा, एक की मौत, एक घायल

घटनास्थल पर पड़ा युवक

> पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी मदन कुमार शर्मा के निर्देश पर पुलिस मौके पर पहुंची.

नावा बाजार । चंदवा । लातेहार । कुड़ू पथ के लाधूप के पास हुई मोटरसाइकिल हादसे में टिको राजगुरूवा निवासी काजु मुंडा की मौके पर ही मौत हो गई, संजय मुंडा घायल हैं। सूचना पर पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी मदन कुमार शर्मा के निर्देश पर एसआई बलेशर भगत, पवन रजक, चौंकीदार सदीक अंसारी, पुलिस दलबल के साथ पहुंचकर घायल को इलाज के लिए अस्पताल भेजवाया। शव को कब्जे में लेकर अंत्यपरीक्षण के लिए भेज दिया गया। ज्ञात लगाया जा रहा है कि किसी अज्ञात वाहन ने बाइक को अपने चपेट में लिया है।

280 total views, no views today

नावा बाजार । चंदवा । मोटरसाइकिल अनियंत्रित होने से 2 घायल, 1 रिम्स रेफर

नावा बाजार । चंदवा । लातेहार । मैक्लुस्कीगंज सड़क स्थित काली मोची के पास अनियंत्रित होकर मोटरसाइकिल दुर्घटनाग्रस्त हो गया, इसमें दो सवार घायल हो गए, सुचना पर पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी मदन कुमार शर्मा, एसआई राजकुमार तिग्गा, चौंकीदार सदीक अंसारी पुलिस दलबल के साथ पहुंचकर घायलों को सीएचसी भेजवाया, जहां तत्कालीन चिकित्सा प्रभारी नन्द कुमार पॉडे, अस्पताल कर्मी प्रवीन कुमार, त्रिलोकी सिंह, बिरबल भगत ने उपचार किया, घायलों में तेतर गंझु, मनोज उरांव गांव दुबी बताया जा रहा है, मनोज उरांव को बेहतर इलाज के लिए रिम्स रेफर किया गया है।

102 total views, no views today

नावा बाजार।लातेहार। सीएए, NRC और एनपीआर की आंदोलन में मृत लोगों के प्रति सामाजिक कार्यकर्ताओं ने किया शोकसभा

नावा बाजार।चंदवा। लातेहार: पेंशनर समाज परिसर में सामाजिक कार्यकर्ताओं ने एक शोकसभा का आयोजन कर नागरिकता संशोधन कानुन और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर तथा एनपीआर के विरोध में देश में चल रहे आंदोलन में पुलिस द्वारा मारे गए अबतक 20 से अधिक मृतकों के प्रति दो मिनट का मौन रखकर गहरा शोक व्यक्त किया, तथा परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट की, शोकसभा को संबोधित करते हुए लोगों ने कहा कि भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र सरकार नागरिकों के जनतांत्रिक आवाज को पुलिस के सहारे कुचल रही है, एक खास विषेश के समुदायों को पुलिस और सरकार निशाना बना रही है, निर्दोष बच्चों को सीने मे गोली मारी गई है, जो आंदोलन में शरीक नहीं थे वैसे हजारों लोगों को जेल भेजा गया है, केंद्र सरकार गोली लाठी के सहारे देश को चलाना चाहती है जो दुर्भाग्यपूर्ण है, उनपर भी कार्रवाई की जाय जिस पुलिस कर्मियों की गोलियों से निर्दोषों की मौत हुई है, शोकसभा में सामाजिक कार्यकर्ताओं में अयुब खान, बाबर खान, ईरसाद मुन्ना, तनवीर आलम, अजमतुल्लाह अंसारी, मकसूद अंसारी, विक्की खान, असलम अंसारी, मोहम्मद सेराज, हातिम अंसारी, परवेज खान, सेराज अंसारी, दाउद अंसारी, जैनुल अंसारी, सनीफ अंसारी, रौशन अली, फखरूद्दीन अंसारी सहित कई लोग उपस्थित थे।

111 total views, no views today